Image Loading
शुक्रवार, 27 मई, 2016 | 10:04 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • सेंसेक्स 140 अंक उछला, निफ्टी हुआ 8100 के पार
  • बिहार: मनोरमा देवी की जमानत याचिका खारिज, टीवी रिपोर्ट्स
  • नासिक में आज सुबह भूमाता ब्रिगेड की प्रमुख तृप्ति देसाई पर हमला, अस्पताल में...
  • राजस्थान के राजसमंद में सड़क हादसा, 11 लोगों की मौत
  • देहरादून में मौसम का हालः आसमान में धुंध छाई रहेगी, गर्मी से राहत नहीं, न्यूनतम...
  • रांची में मौसम का हालः आसमान में धुंध छाई रहेगी, न्यूनतम तापमान 22 डिग्री, अधिकतम...
  • पटना में मौसम का हालः गर्मी से राहत नहीं, न्यूनतम तापमान 27 डिग्री, अधिकतम तापमान 39...
  • लखनऊ में मौसम का हालः बादल छाए रहेंगे, उमस रहेगी, न्यूनतम तापमान 26 डिग्री, अधिकतम...
  • दिल्ली में मौसम का हालः न्यूनतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस, अधिकतम 42 डिग्री...
  • आज 41 मंत्रियों के साथ पश्चिम बंगाल के सीएम पद की शपथ लेंगी ममता बनर्जी
  • जम्मू-कश्मीर के बारामूला में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी

वाड्रा पर आरोपों के मामले में आदेश सुरक्षित

लखनऊ, एजेंसी First Published:29-11-2012 06:18:57 PMLast Updated:29-11-2012 06:21:12 PM
वाड्रा पर आरोपों के मामले में आदेश सुरक्षित

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनउ पीठ ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ आम आदमी पार्टी के संस्थापक अरविंद केजरीवाल द्वारा लगाये गये आरोपों की जांच के निर्देश प्रधानमंत्री कार्यालय को देने के आग्रह वाली याचिका पर गुरुवार को शुरुआती सुनवाई के बाद अपना आदेश सुरक्षित कर लिया।

न्यायमूर्ति उमानाथ सिंह तथा न्यायमूर्ति वीरेन्द्र कुमार दीक्षित की खंडपीठ के समक्ष स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर की इस याचिका पर सुनवाई हुई। केन्द्र सरकार की तरफ से पेश अतिरिक्त सालीसिटर जनरल मोहन पाराशरन ने दलील दी कि यह याचिका खारिज किये जाने योग्य है, क्योंकि यह महज मीडिया की खबरों पर आधारित है और जब तक याचिका सम्बन्धी तथ्यों को साबित नहीं कर दिया जाता, तब तक इन्हें सच नहीं माना जा सकता।

उन्होंने यह भी तर्क दिया कि याची को यह याचिका दायर करने का कोई हक नहीं है। उधर, केन्द्र सरकार के इस तर्क का जवाब देते हुए याचिकाकर्ता के वकील अशोक पाण्डेय का कहना था कि जब केन्द्र अपनी आपत्ति में इसे दो लोगों (वाड्रा और डीएलएफ कम्पनी) के बीच का मामला बता रहा है तो फिर इसमें इतनी जल्द पैरवी क्यों की गयी, जबकि बड़ी संख्या में अन्य मामले लम्बित हैं।

याचिकाकर्ता के वकील ने अपनी दलीलों में यह भी आरोप लगाया कि यह मामला बड़े लोगों से सम्बन्धित है। लिहाजा याची के नौ अक्टूबर 2012 के प्रत्यावेदन में प्रस्तुत तथ्यों की बाबत सक्षम प्राधिकारियों से जांच कराने के निर्देश प्रधानमंत्री कार्यालय को दिये जाने चाहिये।

 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
Bihar Board Result 2016
Assembely Election Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
बांगड़ होंगे जिम्बाब्वे सीरीज के लिए भारतीय टीम के कोचबांगड़ होंगे जिम्बाब्वे सीरीज के लिए भारतीय टीम के कोच
भारत और रेलवे के पूर्व आल राउंडर संजय बांगड़ को राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के आगामी जिम्बाब्वे दौरे के लिए गुरुवार को कोच नियुक्त किया गया जबकि भरत अरुण और आर श्रीधर को सहयोगी स्टाफ में कोई जगह नहीं दी गई।