Image Loading केजरीवाल का दावा, मोदी ने भी किया भ्रष्टाचार - LiveHindustan.com
रविवार, 01 मई, 2016 | 22:57 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • पद्मावती एक्सप्रेस हादसे की शिकार, 8 बोगियां पटरी से उतरीं, कई लोगों के जख्मी...
  • आईपीएल 9: राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस ने मुंबई इंडियंस के सामने 160 रन का लक्ष्य रखा
  • आईपीएल 9: किंग्स इलेवन पंजाब ने गुजरात लायंस को 23 रन से हराया
  • आईपीएल 9: मुंबई इंडियंस ने टॉस जीता, राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस को दिया पहले...
  • वाराणसी: अस्सीघाट पर पीएम मोदी के मंच पर शार्ट सर्किट से मचा हडकंप
  • IPL: पंजाब ने गुजरात को जीत के लिए दिया 155 रन का लक्ष्य

केजरीवाल का दावा, मोदी ने भी किया भ्रष्टाचार

नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान First Published:05-12-2012 10:02:01 AMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
केजरीवाल का दावा, मोदी ने भी किया भ्रष्टाचार

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने अब गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कुछ कंपनियों को फायदा पहुंचाने के मामले का खुलासा किया है।

केजरीवाल के मुताबिक मोदी ने कांग्रेस की एक सांसद के पति की कंपनी को भी दस हजार करोड़ रुपये मूल्य वाला गैस का कुआं मुफ्त में दिया है। साथ ही राज्य में विपक्षियों को और भी फायदे पहुंचाए गए हैं। इसलिए वे मोदी के भ्रष्टाचार के खिलाफ पूरी तरह चुप हैं।

केजरीवाल ने मंगलवार को दस्तावेज पेश करते हुए कहा कि गुजरात की सरकारी कंपनी 'गुजरात राज्य पेट्रोलियम निगम' [जीसपीसी] ने केजी बेसिन में अपने गैस ब्लॉक की दस-दस फीसद हिस्सेदारी दो कंपनियों 'जियो ग्लोबल' और 'जुबिलेंट एनप्रो' को मुफ्त में दे दी। इसके लिए बोली तक नहीं लगाई गई।

सरकार ने दावा किया कि कंपनियां उन्हें तकनीकी सहयोग देंगी। उसी केजी बेसिन में मुकेश अंबानी की कंपनी भी तेल निकाल रही है। उसने भी ब्रिटिश पेट्रोलियम से इसी तरह का समझौता कर उसे 30 फीसदी हिस्सा दिया है। बदले में उसने 35 हजार करोड़ रुपये भी लिए हैं, जबकि राज्य सरकार ने यह सब मुफ्त में दे दिया।

जुबिलेंट कंपनी कांग्रेस सांसद के पति श्याम सुंदर भरतिया की है। सुप्रीम कोर्ट के वकील और 'आप' के नेता प्रशांत भूषण ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा मिलकर गुजरात को लूट रही हैं। जब कैग [नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक] ने इस मामले की जांच शुरू की तो मोदी ने वर्ष 2010 में केंद्र को पत्र लिखकर समझौते को रद्द करने की इजाजत मांगी, लेकिन तब से केंद्र ने इसकी इजाजत नहीं दी है।

गुजरात की मोदी सरकार ने अडानी कंपनी को फायदा पहुंचाने के लिए 2.35 और 2.89 रुपये प्रति यूनिट बिजली खरीदी, जबकि सरकारी कंपनी 2.25 रुपये प्रति इकाई बिजली मुहैया कराने को तैयार थी। वायु सेना ने जगह मांगी तो मोदी सरकार ने 8,800 रुपये वर्ग मीटर की दर से कीमत मांगी, लेकिन अदानी को एक रुपये से 32 रुपये की दर से दे दी।

केजरीवाल ने बताया कि संबंधित कागजात उन्हें निलंबित आइपीएस संजीव भट्ट ने दिए हैं। भट्ट की पत्नी मोदी के खिलाफ कांग्रेस के टिकट पर लड़ रही हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि जब जियो ग्लोबल का मामला हाईकोर्ट में उठा, तो जजों को फायदा पहुंचाकर मामला दबा दिया गया।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट
आईपीएल  9: मुंबई इंडियन्स ने पुणे सुपरजाइंटस को 159 रन पर रोकाआईपीएल 9: मुंबई इंडियन्स ने पुणे सुपरजाइंटस को 159 रन पर रोका
सौरभ तिवारी और स्टीवन स्मिथ के शुरूआती ओवरों की तूफानी बल्लेबाजी से उबरकर मुंबई इंडियन्स के गेंदबाजों ने शानदार वापसी करके राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस को आईपीएल मैच में पांच विकेट पर 159 रन ही बनाने दिए।