Image Loading CM हाउस के बाहर धरने पर बैठे केजरीवाल, हुए गिरफ्तार - LiveHindustan.com
गुरुवार, 05 मई, 2016 | 19:44 | IST
 |  Image Loading
ब्रेकिंग
  • पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के छठे और अंतिम चरण में 84.24 प्रतिशत मतदान: निर्वाचन...
  • यूपी बोर्ड का हाईस्कूल व इंटरमीडिएट रिजल्ट 15 मई को आएगा।
  • अन्नाद्रमुक ने स्कूटर मोपेड खरीदने के लिए महिलाओं को 50 प्रतिशत सब्सिडी देने,...
  • अन्नाद्रमुक ने तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के लिए अपने घोषणापत्र में सब के लिए 100...
  • तमिलनाडुः अन्नाद्रमुक ने सभी राशन कार्ड धारकों को मुफ्त मोबाइल फोन देने का...
  • मध्यप्रदेश: सिंहस्थ कुंभ में तेज बारिश और आंधी से गिरे पांडाल, 4 की मौत
  • अगस्ता वेस्टलैंड मामला: पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी के तीनों करीबी...
  • सेंसेक्स 160.48 अंक की बढ़त के साथ 25,262.21 और निफ्टी 28.95 अंक चढ़कर 7,735.50 पर बंद
  • वाईस एडमिरल सुनील लांबा होंगे नौसेना के अगले प्रमुख, 31 मई को संभालेंगे पद
  • यूपी सरकार ने केंद्र सरकार से बुंदेलखंड के लिए पानी के टैंकर मांगें-टीवी...
  • स्टिंग ऑपरेशन: हरीश रावत को सीबीआई ने सोमवार को पूछताछ के लिए बुलाया: टीवी...
  • नोएडा: स्कूल बसों और ऑटो की टक्कर में इंजीनियर लड़की समेत 2 की मौत। क्लिक करें

CM हाउस के बाहर धरने पर बैठे केजरीवाल, हुए गिरफ्तार

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-12-2012 02:38:45 PMLast Updated:07-12-2012 03:02:25 PM
CM हाउस के बाहर धरने पर बैठे केजरीवाल, हुए गिरफ्तार

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल और कई अन्य लोगों को दक्षिणी दिल्ली के एक इलाके में मकानों को गिराने का विरोध करने के दौरान आज सुबह मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के आवास के बाहर हिरासत में लिया गया।
    
मुख्यमंत्री के मोतीलाल नेहरू मार्ग स्थित आवास के पास करीब सौ लोग ओखला के पास शाहीनबाग में मकानों को तोड़ने के विरोध में सुबह सात बजे एकत्रित हुए, जबकि इसके एक घंटे बाद केजरीवाल वहां पहुंचे। इन लोगों ने मुख्यमंत्री से मिलने देने की मांग की।
    
प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री के आवास के बाहर अपना प्रदर्शन जारी रखा। प्रदर्शनकारियों ने जगह छोड़ने से इंकार कर दिया, जिसके बाद पुलिस को करीब साढे बारह बजे उन्हें हिरासत में लेना पड़ा।
    
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि केजरीवाल और आप के नेता मनीष सिसौदिया तथा कुमार विश्वास सहित कई अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया।
    
किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। पुलिस ने जनपथ मार्ग की ओर एक तरफ अवरोधक लगाए। इसी मार्ग से शीला दीक्षित के आवास के लिए प्रवेश होता है।
    
प्रदर्शनकारियों ने सरकार की कार्रवाई के खिलाफ नारेबाजी की। केजरीवाल ने कहा कि जिस जमीन पर ये लोग रह रहे हैं वह इन्हीं की जमीन है, इनके पास इसके दस्तावेज हैं। लेकिन यह अनाधिकृत है, क्योंकि आपको नक्शा सरकार द्वारा पास कराना होता है।
    
उन्होंने कहा कि लेकिन चार अक्टूबर 2010 को सोनिया गांधी ने घोषणा की थी कि 1600 कालोनियों को नियमित किया जाएगा, यह कालोनी भी उसमें शामिल थी। इसके बावजूद 500 घरों को ढहा दिया गया।
    
उन्होंने आरोप लगाया कि पास के कई शोरूम को नहीं गिराया गया। उन्होंने कहा कि हम मुख्यमंत्री से मिलने का समय मांग रहे थे, जो नहीं दिया गया। हम यहां सरकार से भिड़ने नहीं बल्कि केवल धरने पर बैठने आए हैं।
    
केजरीवाल ने आरोप लगाया कि ऐसा लगता है कि कुछ बिल्डरों को जमीन देने के लिए यह बड़े भूमि घोटाले का हिस्सा है।

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
अन्य खबरें
 
देखिये जरूर
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
क्रिकेट