Image Loading
मंगलवार, 27 सितम्बर, 2016 | 15:55 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • CBI ने सुप्रीम कोर्ट से बुलंदशहर गैंगरेप केस में कथित बयान को लेकर यूपी के मंत्री...
  • दिल्लीः कॉरपोरेट मंत्रालय के पूर्व डीजी बी के बंसल ने बेटे के साथ की खुदकुशी,...
  • मामूली बढ़त के साथ खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स 78.74 अंको की तेजी के साथ 28,373 और निफ्टी...
  • US Election Debate: ट्रंप की योजनाएं अमेरिका की अर्थव्यव्स्था के लिए ठीक नहीं, हमें सब के...
  • हावड़ा से दिल्ली की ओर जा रही मालगाड़ी पटरी से उतरी, सुबह की घटना, अभी रेल यातायात...
  • क्रिकेटर बालाजी 'रजनीकांत' के फैन हैं, आज बर्थडे है उनका। उनकी जिंदगी से जुड़े...

CM हाउस के बाहर धरने पर बैठे केजरीवाल, हुए गिरफ्तार

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-12-2012 02:38:45 PMLast Updated:07-12-2012 03:02:25 PM
CM हाउस के बाहर धरने पर बैठे केजरीवाल, हुए गिरफ्तार

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल और कई अन्य लोगों को दक्षिणी दिल्ली के एक इलाके में मकानों को गिराने का विरोध करने के दौरान आज सुबह मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के आवास के बाहर हिरासत में लिया गया।

मुख्यमंत्री के मोतीलाल नेहरू मार्ग स्थित आवास के पास करीब सौ लोग ओखला के पास शाहीनबाग में मकानों को तोड़ने के विरोध में सुबह सात बजे एकत्रित हुए, जबकि इसके एक घंटे बाद केजरीवाल वहां पहुंचे। इन लोगों ने मुख्यमंत्री से मिलने देने की मांग की।

प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री के आवास के बाहर अपना प्रदर्शन जारी रखा। प्रदर्शनकारियों ने जगह छोड़ने से इंकार कर दिया, जिसके बाद पुलिस को करीब साढे बारह बजे उन्हें हिरासत में लेना पड़ा।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि केजरीवाल और आप के नेता मनीष सिसौदिया तथा कुमार विश्वास सहित कई अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया।

किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। पुलिस ने जनपथ मार्ग की ओर एक तरफ अवरोधक लगाए। इसी मार्ग से शीला दीक्षित के आवास के लिए प्रवेश होता है।

प्रदर्शनकारियों ने सरकार की कार्रवाई के खिलाफ नारेबाजी की। केजरीवाल ने कहा कि जिस जमीन पर ये लोग रह रहे हैं वह इन्हीं की जमीन है, इनके पास इसके दस्तावेज हैं। लेकिन यह अनाधिकृत है, क्योंकि आपको नक्शा सरकार द्वारा पास कराना होता है।

उन्होंने कहा कि लेकिन चार अक्टूबर 2010 को सोनिया गांधी ने घोषणा की थी कि 1600 कालोनियों को नियमित किया जाएगा, यह कालोनी भी उसमें शामिल थी। इसके बावजूद 500 घरों को ढहा दिया गया।

उन्होंने आरोप लगाया कि पास के कई शोरूम को नहीं गिराया गया। उन्होंने कहा कि हम मुख्यमंत्री से मिलने का समय मांग रहे थे, जो नहीं दिया गया। हम यहां सरकार से भिड़ने नहीं बल्कि केवल धरने पर बैठने आए हैं।

केजरीवाल ने आरोप लगाया कि ऐसा लगता है कि कुछ बिल्डरों को जमीन देने के लिए यह बड़े भूमि घोटाले का हिस्सा है।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title:
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड