class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाजुओं जमा वसा को ऐसे कर सकते हैं कम

बाजुओं जमा वसा को ऐसे कर सकते हैं कम

वैसे तो शरीर के किसी भी हिस्से में अतिरिक्त चर्बी अच्छी नहीं लगती, पर मोटी बाजू खासतौर पर देखने में खराब लगती है। शरीर के इस हिस्से से वसा को कैसे कहें गुडबाय जानिए यहां। यह जानना जरूरी है कि कुछ लोगों की बाजुओं पर खासतौर पर वसा क्यों इकट्ठा होती है और इसे कैसे कम किया जाए?

क्या हैं कारण

हारमोन में बदलाव मेटाबॉलिज्म को धीमा कर देता है, जिसकी वजह से कैलोरी बर्न होने की गति धीमी हो जाती है और वजन बढ़ने लगता है। योग गुरु सुनील सिंह के अनुसार, ‘मेटाबॉलिज्म धीमा होने का मतलब है कि शरीर में वसा इकट्ठी होने लगेगी और वो शरीर के चार ही हिस्सों में जमा होगी, बाजू, कूल्हा, जांघें और पेट। और हां, यह दिक्कत महिलाओं को ही ज्यादा होती है। थाइरॉएड ग्रंथि के ठीक तरीके से काम न करने से भी बाजू के आसपास वसा इकट्ठा होने लगती है।’

इसके अलावा बार-बार जिम जॉइन करना और छोड़ना भी इस परेशानी का कारण हो सकता है। आमतौर पर होता यह है कि लोग वजन कम करने के लिए जिम जाने लगते हैं, पर लक्ष्य पूरा होने से पहले ही जिम जाना छोड़ भी देते हैं। ऐसा करने की वजह से भी शरीर के कुछ खास हिस्सों में वसा जमा होने लगती है। फिजियोथेरेपिस्ट सुब्रतो भद्र के अनुसार, ‘पूरा काम हुए बिना जिम छोड़ने का असर यह होता है कि मांसपेशियों में कसाव नहीं आ पाता है और शरीर के कुछ हिस्सों की त्वचा लटकने लगती है।’

एक्सरसाइज बॉल भी तो है

एक्सरसाइज बॉल पर समय बिताना हाथ, पेट और पीठ की मांसपेशियों के लिए अच्छा होता है। इस पर सिर्फ 20 मिनट बिताकर भी आप अपनी फिटनेस को बरकरार रख सकती हैं। फर्श पर घुटनों के बल बैठ जाएं और हाथों की मुट्ठी बनाएं और एक्सरसाइज बॉल पर टिकाएं। गेंद पर शरीर का संतुलन बनाने के लिए मुट्ठी का इस्तेमाल करें और धीरे-धीरे शरीर को आगे-पीछे धकेलें। व्यायाम के हर एक सेट के बाद 1 मिनट का ब्रेक लें।

रस्सी कूद करेगी मदद

रस्सी कूदना पूरे शरीर के लिए फायदेमंद होता है। एक तो इससे वजन कम हो जाता है, दूसरा इससे शरीर की मांसपेशियां भी मजबूत बनती हैं और उनमें लचीलापन आता है। बस ध्यान यह रखना है कि रस्सी की लंबाई दोनों ओर बराबर हो। और हां, पहले धीरे, फिर तेजी से रस्सी कूदें। इससे हाथों की एक्सरसाइज ठीक से हो जाती है।

सूर्य नमस्कार में छिपा है हल

सूर्य नमस्कार योग की ऐसी क्रिया है, जिसमें कई सारी परेशानियों का हल छिपा है। एक दिन में 6 राउंड सूर्य नमस्कार करके शरीर की कार्यक्षमता बढ़ाने में मदद मिलती है। योग गुरु सुनील कहते हैं, ‘सूर्य नमस्कार से शरीर की वसा का इस्तेमाल ऊर्जा के लिए हो पाता है। यह क्रिया फेफड़ों, त्वचा, जोड़ों, आंखों, बाल और लिवर तक के लिए फायदेमंद है।’

प्राणायाम का लाभ

प्राणायाम का सीधा असर थाइरॉएड ग्रंथि पर होता है। इसमें ओम का उच्चारण ही किया जाता है, पर ओम् के ‘म’ पर दबाव दिया जाता है। इससे थाइरॉएड ग्रंथि सक्रिय हो जाती है।  इसके अलावा उज्जई श्वास क्रिया से भी थाइरॉएड को सक्रिय करने में मदद मिलती है। इसमें जुबान को तालू पर छूकर ‘हिम’ जैसी आवाज निकालनी होती है।

कुर्सी की भी लीजिए मदद

बाजू से अतिरिक्त चर्बी हटाने के लिए जिम जाने की जगह आप कुर्सी की भी मदद ले सकती हैं। इससे हाथों का भारीपन कम होता है और उन्हें अच्छा आकार भी मिलता है। इसके लिए जमीन से दो या तीन फिट ऊंची कुर्सी चुनें। हाथों को पीछे की ओर मोड़कर कुर्सी के आगे वाले हिस्से में रखें और पैरों को जमीन में लगाकर हाथों के बल ऊपर-नीचे करें।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:how to shape your arms