Image Loading how do you reduce stress - Hindustan
सोमवार, 24 अप्रैल, 2017 | 10:57 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • बॉलीवुड मसालाः बाहुबली-2 का पहला गाना आया और इंटरनेट पर मच गया धमाल, इसके अलावा...
  • टॉप 10 न्यूज: सुबह 9 बजे तक देश-दुनिया की खबरें एक नजर में
  • हेल्थ टिप्स: गर्मियों में रोजाना पीयें मट्ठा, कैलोरी व फैट रखेगा नियंत्रित
  • ओपिनियनः पढ़ें मिंट के संपादक आर सुकुमार का लेख- स्टार्ट-अप में उतार-चढ़ाव का दौर
  • मौसम दिनभरः दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना और रांची में आज रहेगी गर्मी। देहरादून में...
  • ईपेपर हिन्दुस्तानः आज का अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें
  • आपका राशिफलः वृष राशि वालों को माता-पिता का सानिध्य एवं सहयोग मिलेगा। नौकरी में...
  • सक्सेस मंत्र: खुद पर विश्वास रखेंगे तो जरूर आगे बढ़ेंगे
  • टॉप 10 न्यूज: देश-दुनिया की खबरें पढ़ें एक नजर में
  • KKRvRCB: कोलकाता ने बैंगलोर को 82 रन से हराया

Health Tips: क्या होता है तनाव, जानें इसके बारे में सब कुछ

हिन्दुस्तान फीचर टीम। First Published:20-04-2017 02:52:35 PMLast Updated:20-04-2017 03:19:35 PM
Health Tips: क्या होता है तनाव, जानें इसके बारे में सब कुछ

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव एक आम समस्या बन चुका है। छोटे से लेकर बड़े तक, आज हर तीसरा व्यक्ति इस समस्या से जूझ रहा है। तनाव की स्थिति तब होती है, जब हम दवाब लेने लगते हैं और जीवन के हर पहलू पर नकारात्मक रूप से सोचने लगते हैं। यह समस्या शारीरिक रूप से कमजोर करने के साथ-साथ भावनात्मक रूप से भी आहत करती है। इससे ग्रस्त व्यक्ति न तो ठीक से काम कर पाता है और न ही अपने जीवन का खुलकर आनंद उठा पाता है। कार्यशैली और संबंधों पर बुरा असर पड़ने के चलते उसमें जीने की इच्छा भी खत्म हो जाती है। जाहिर है कि तनाव में रहने वाले अधिकतर लोग आत्महत्या की ओर कदम बढ़ा लेते हैं।

क्या होता है तनाव
यूं तो मनुष्य का उदास या निराश होना स्वाभाविक है, लेकिन जब ये एहसास काफी लंबे समय तक बना रहे तो समझ जाइए कि वो तनाव की स्थिति में है। यह एक ऐसा मानसिक विकार है, जिसमें व्यक्ति को कुछ भी अच्छा नहीं लगता। उसे अपना जीवन नीरस, खाली-खाली और दुखों से भरा लगता है। प्रत्येक व्यक्ति को अलग-अलग कारणों से तनाव हो सकता है। किसी बात या काम का अत्यधिक दवाब लेने से यह समस्या पैदा हो जाती है।

महिलाएं अधिक हैं तनाव की शिकार
तनाव पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। बदलते सामाजिक परिवेश में महिलाएं बड़े पैमाने पर तनाव की शिकार हो रही हैं। इनमें कामकाजी महिलाओं की तादाद सबसे अधिक है। जहां घरेलू महिलाओं को घर के माहौल से तनाव होता है, वहीं कामकाजी महिलाएं घरेलू व बाहरी दोनों कारणों से तनाव की शिकार हो रही हैं।

तनाव के लक्षण
0 नींद न आना।
0 ब्लड प्रेशर बढ़ना।
0 थका हुआ महसूस करना।
0 खाना ठीक से न पचना।
0 खराब स्वास्थ्य।
0 दिल तेजी से धड़कना।
0 सिरदर्द।
0 इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर होना।
0 आत्महत्या की सूझना।
0 निराशा।
0 किसी भी काम में मन न लगना।
0 छोटी-सी बात पर गुस्सा आना या आक्रामक हो जाना।
0 चिड़चिड़ापन।

तनाव के मुख्य कारण
0 करियर में ग्रोथ न होना।
0 ऑफिस के कार्यभार व जिम्मेदारियों की अधिकता।
0 वैवाहिक, प्रेम और पारिवारिक संबंधों में दरार आना।
0 वजन तेजी से घटना या बढ़ना।
0 आर्थिक परेशानी।
0 पुरानी या गंभीर बीमारी की वजह से।
0 मादक पदाथार्ें का अत्यधिक सेवन करना।
0 किसी काम के लिए न नहीं कह पाना।
0 साधारण-सी बीमारी के लिए दवा का प्रयोग करना।

तनाव में न खाएं अधिक खाना
आपने अकसर देखा होगा कि जब आप गुस्से या तनाव में होते हैं तो अधिक खाना खाने लगते हैं। उस वक्त खाना अच्छा तो नहीं लगता, लेकिन मन को शांत करने के लिए कुछ और सूझता भी नहीं। इस दौरान ज्यादा खा लेने से शरीर पर धीरे-धीरे चर्बी जमा हो जाती है। इस आदत से छुटकारा पाने के लिए आप पर्याप्त पानी पिएं, दोस्तों से बात करें और आराम करें। इसके अलावा आप किसी एक्टिविटी में भी हिस्सा ले सकते हैं, जिससे इस दौरान अतिरिक्त कैलरी लेने से बच सकते हैं। विशेषज्ञ बताते हैं कि अतिरिक्त कैलरी से बचाव आपको केवल तनाव से ही नहीं बचाता, बल्कि कई अन्य बीमारियों से भी आपकी रक्षा करता है।तनाव से होने वाली बीमारियां
इस समस्या को हल्के में न लें, क्योंकि तनाव भरी जिंदगी जीने वाले लोग कैंसर, फेफड़ों संबंधी बीमारी, माइग्रेन, तेज सिरदर्द, घातक दुर्घटना, लिवर की समस्या, हार्ट अटैक, हाइपरटेंशन, अल्सर, हाई ब्लड प्रेशर, एन्जाइना और स्ट्रोक जैसी गंभीर बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं।

तनाव दूर करने के उपाय
0 तनाव से निजात पाने के लिए सबसे पहले अपनी जीवनशैली में बदलाव लाएं।
0 मेडिटेशन और योग करें। यह मानसिक और शारीरिक रूप से भी आपको पूरी तरह स्वस्थ रखेगा।
0 खुशमिजाज और सकारात्मक सोच वाले लोगों के साथ रहें। नकारात्मक लोगों के साथ उठने-बैठने से बचें, क्योंकि उससे आप भी नकारात्मक हो सकते हैं।
0 भरपूर नींद लें, लेकिन जरूरत से ज्याद न सोएं। सोने और सुबह उठने का एक समय निश्चित करें।
0 बेवजह की बातों पर सोच-विचार या बहस न करें। इससे तनाव और भी बढ़ जाता है।
0 अपनी परेशानियों को दोस्तों और परिवार के साथ साझा करें। इससे आपकी तकलीफें कम होंगी।
0 तनाव की स्थिति में जंक और ऑयली फूड न खाएं। केवल पौष्टिक और संतुलित आहार ही लें।
0 राहत भरा संगीत सुनें। तनाव होने पर तेज ध्वनि वाला संगीत नहीं सुनना चाहिए।
0 धूम्रपान और शराब का सेवन बिल्कुल न करें। इनके सेवन से आपको कुछ देर के लिए राहत महसूस हो सकती है, लेकिन बाद में आपकी परेशानी दोगुनी बढ़ जाएगी।
0 हर वक्त मोबाइल, टीवी और लैपटॉप जैसे गैजेट से चिपके न रहें।
0 शारीरिक क्षमता से अधिक काम बिल्कुल भी न करें। घंटों काम में लगे रहने से तनाव की स्थिति पैदा होती है।
0 समस्याओं के बारे में सोचने के बजाय उनका समाधान निकालने की कोशिश करें।
0 किसी हिल स्टेशन पर जाएं। यहां प्राकृतिक खूबसरती के बीच शांति और सुकून मिलेगा। खुली और शुद्ध हवा में सांस लेने से मन-मस्तिष्क दुरुस्त होते हैं।
0 कुछ नया और रचनात्मक सीखें।
0 हेड मसाज, सोना या स्टीम बाथ लें। इससे दिमाग को राहत मिलेगी।

क्या खाएं
0 विटामिन-सी से भरपूर फल खाएं।
0 हरे पत्तेदार सब्जियां खाएं।
0 काजू और भिगोए हुए बादाम खाएं।
0 हर्बल टी पिएं।
0 डार्क चॉकलेट खाएं।
0 ओटमील खाएं।

क्या न खाएं
0 ऑयली चीजों और जंक फूड से बचें।
0 कैफीन का सेवन न करें।
0 शुगर का इस्तेमाल कम से कम करें।
0 चिप्स को नजरअंदाज करें।

बच्चे भी हो सकते हैं इसके शिकार
तनाव युवाओं और बड़ों को ही नहीं होता, बल्कि यह समस्या छोटे बच्चों को भी हो सकती है। अगर बच्चा किसी बात से दुखी है तो इसका यह मतलब नहीं है कि वो तनाव में है। जब वो खेलों में रुचि लेना बिल्कुल बंद कर दे, स्कूल वर्क में मन न लगाए, दोस्तों या घरवालों के साथ दुर्व्यवहार करे और गुमशुम एक कोने में बैठा रहे तो समझ जाएं कि वह अवसाद ग्रस्त है।

डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी
अगर आपको ऐसा महसूस हो रहा है कि आप लंबे समय से तनाव में हैं या उसे दूर नहीं कर पा रहे हैं तो डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है। अधिक समय तक तनाव की स्थिति आपको गंभीर बीमारी का शिकार बना सकती है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: how do you reduce stress
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
संबंधित ख़बरें