class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गलफहमी में डीएम ने जेई को कराया गिरफ्तार

माघ मेले की तैयारियों की समीक्षा करने पहुंचे डीएम संजय कुमार ने गुरुवार को गलतफहमी की वजह से नगर निगम के जेई को गिरफ्तार करा दिया, जबकि इस क्षेत्र के रखरखाव की जिम्मेदारी कैंटोमेंट बोर्ड की है। बाद में उसको छोड़ दिया गया।

समीक्षा बैठक के पहले डीएम ने परेड मैदान का निरीक्षण किया तो हाईमास्ट खराब था। इससे पहले भी उन्होंने हाईमास्ट को बदलने की हिदायत दी थी। छह महीने से हाईमास्ट नहीं जल रहा था। लोगों ने बताया कि हाईमास्ट व अन्य सभी स्ट्रीट लाइटें दुरुस्त कराने की जिम्मेदारी नगर निगम की है। उन्होंने वहां पर मौजूद नगर निगम के जेई अनिल शुक्ल को फटकार लगाई। जेई ने कहा कि यह क्षेत्र नगर निगम का नहीं है। लेकिन डीएम ने समझा कि जेई पल्ला झाड़ रहा है। उन्होंने दारागंज के थानेदार को बुलाकर गिरफ्तार करा दिया। जेई घंटों थाने में पड़े रहे।

इसकी जानकारी महापौर अभिलाषा गुप्ता को हुई तो उन्होंने डीएम को पत्र लिखकर अवगत कराया कि परेड मैदान क्षेत्र नगर निगम की सीमा में नहीं आता। नगर निगम ने वहां पर हाईमास्ट लगाया भी नहीं था। इसके बाद डीएम ने जेई को थाने से रिहा करा दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:In confusion, DM ordered to arrest JE