class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी बार कौंसिल चेयरमैन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर रोक

यूपी बार कौंसिल चेयरमैन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर रोक

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी बार कौंसिल के चेयरमैन अनिल प्रताप सिंह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव एवं उसे लेकर हुए अन्य आदेशों के अमल पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने कौंसिल से अविश्वास प्रस्ताव संबंधी पत्रावली तलब करते हुए मामले पर अगली सुनवाई के लिए छह दिसंबर की तारीख लगाई है।

यह आदेश न्यायमूर्ति अरुण टंडन एवं न्यायमूर्ति संगीता चंद्रा की खंडपीठ ने अनिल प्रताप सिंह की याचिका पर उनके अधिवक्ता अनूप त्रिवेदी व बार कौंसिल के वकील राकेश पांडे को सुनकर दिया। कोर्ट ने यूपी बार कौंसिल से याचिका पर 48 घंटे में जवाब भी मांगा है। कोर्ट ने यह स्पष्ट करने को कहा है कि अधिवक्ता अधिनियम एवं यूपी बार कौंसिल बाईलॉज के मुताबिक बगैर किसी प्रावधान के अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जा सकता है या नहीं। कोर्ट ने कहा कि प्रस्तुत तथ्यों और दस्तावेजों से प्रथमदृष्टया प्रतीत होता है कि जिस सभा ने अध्यक्ष चुना था, उसी ने अविश्वास प्रस्ताव लाकर उसे पद से हटाने की प्रक्रिया का पालन नहीं किया। मामले के तथ्यों के अनुसार कतिपय अनियमित कार्य करने के आरोप में अध्यक्ष अनिल प्रताप सिंह के खिलाफ गत 26 नवम्बर को अविस्वास प्रस्ताव लाकर उन्हें पद से हटा दिया गया। उसके बाद उपाध्यक्ष दरवेश सिंह को कार्यवाहक अध्यक्ष बना दिया गया था। इसे याचिका में चुनौती देते हुए कहा गया कि अविश्वास प्रस्ताव के लिए बुलाई गई बैठक में विहित प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया। साथ ही अध्यक्ष के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाकर उन्हें हटाने का कोई प्रावधान नहीं है, ऐसे में याची को पद से हटाने का प्रस्ताव रद्द किया जाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:HC stay no confidence motion against bar council chairman