class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच साल बाद गांव से शहर आएंगे शिक्षक

पांच साल बाद गांव से शहर आएंगे शिक्षक

बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में ग्रामीण इलाके में तैनात शिक्षकों को जल्द ही नगर क्षेत्र में आने का मौका मिलेगा। बेसिक शिक्षा परिषद ने ग्रामीण से नगर क्षेत्र में तबादले का प्रस्ताव शासन को भेजा है और कैबिनेट से मंजूरी के बाद प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इससे पहले 2011 में ग्रामीण से नगर क्षेत्र में तबादला हुआ था।

पिछले चार साल में कई शिक्षक भर्ती के बाद ग्रामीण क्षेत्र में तो पर्याप्त संख्या में शिक्षक पहुंच गए लेकिन नगर क्षेत्र में शिक्षकों की कमी बनी हुई है। चूंकि सहायक अध्यापकों की नियुक्ति ग्रामीण क्षेत्र में ही होती है इसलिए नगर क्षेत्र के स्कूलों को पिछले पांच साल में कोई शिक्षक नहीं मिले। अब चुनाव से पहले सरकार बेसिक शिक्षकों को एक और तोहफा देना चाहती है।

ग्रामीण से नगर क्षेत्र में आने पर शिक्षकों का पुराना अनुभव शून्य हो जाता है। नगर क्षेत्र में जिस दिन से ज्वाईन करते हैं वरिष्ठता उसी दिन से जोड़ी जाती है। इसके बावजूद शहर में रहने वाले तमाम शिक्षक नगर क्षेत्र में आना चाहते हैं क्योंकि रोजाना स्कूल तक आना-जाना मुश्किल काम होता है। 2011 से पहले 2001-02 में शिक्षकों का ग्रामीण से नगर क्षेत्र में तबादला हुआ था।

इनका कहना है

शिक्षकों को ग्रामीण से नगर क्षेत्र में तबादला मिलना चाहिए। सरकार को चाहिए कि प्राथमिक के सहायक अध्यापकों की तरह प्राइमरी के हेडमास्टर और जूनियर हाईस्कूल के सहायक अध्यापकों को भी ट्रांसफर में मौका दे। देवेन्द्र श्रीवास्तव, जिलाध्यक्ष प्राथमिक शिक्षक संघ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Basic teachers to soon get transfer from rural to urban area