class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छह लाख बेकार, अब कलवारी में बनेगा पशु चिकित्सालय

सदर पशु चिकित्सालय के निर्माण का अब रास्ता साफ हो गया है। शहर से सटे गांव कलवारी में जमीन का आवंटन हो गया है। इसी जमीन पर अब अस्पताल का निर्माण हो सकेगा। यह बात और है कि वर्तमान में जहां अस्पताल है, वहीं पर इसके निर्माण पर छह लाख रुपये खर्च हो चुका है। पुरातत्व विभाग के रोक लगाने के कारण यहां निर्माण नहीं हो पा रहा है।

सदर पशु चिकित्सालय यहां नगला बेलनशाह में कई सालों से चल रहा है। अब इसकी इमारत जर्जर हो गई है। यहां बने हुए डॉक्टर व कर्मचारी के आवास भी बेहद कमजोर हो गए हैं। ऐसे में इस इमारत का नए सिरे से निर्माण कराने के लिए 21 लाख 26 हजार रुपये आवंटित हुए थे। यहां पर निर्माण शुरू करा दिया गया। करीब छह लाख रुपये खर्च हो गए। इसी बीच विभाग पर पुरातत्व विभाग से नोटिस पहुंच गया। दरअसल अस्पताल परिसर में विलियम शॉ की पत्थर की प्रतिमा है। इसकी देखरेख पुरातत्व विभाग के अधीन है। ऐसे में इसके दो सौ मीटर के दायरे में निर्माण पर रोक है। हालांकि यहां और निर्माण हो रहे हैं। इस नोटिस के बाद अस्पताल का निर्माण रुकवा दिया गया। इसके बाद विभाग ने कहीं और जमीन की तलाश शुरू कर दी। अब कलवारी गांव में जाकर जमीन मिली है। 0.299 हेक्टेयर बंजर भूमि को पशु चिकित्सालय के निर्माण के अधीन करने के आदेश जिलाधिकारी ने कर दिए हैं। चार कमरे के अनावसीय भवन व कैटल क्रश का निर्माण किया जाएगा। अब करीब 16 लाख रुपये विभाग के पास बचे हैं। ऐसे में निर्माण शुरू होते ही और भी धन की मांग शासन को भेजी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Animals Hospital will be build in kalwari