class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कासगंज में तीन बच्चों ने चूरन समझकर खाई चूहे मार दवाई, दो की मौत

कासगंज में तीन बच्चों ने चूरन समझकर खाई चूहे मार दवाई, दो की मौत

थाना सिकन्दरपुर वैश्य के ग्राम बरौना में तीन बच्चों ने चूरन समझकर चूहे मार दवाई खा ली। जिससे दो बच्चों की मौत हो गई जबकि तीसरी बच्ची सीएचसी गंजडुंडवारा में गंभीर हालत में भर्ती है।

बरौना निवासी नबी हसन का 6 वर्षीय पुत्र अकरम और उनकी आठ वर्षीय पुत्री नाजिश एवं उनके पड़ोसी आस मोहम्मद की बेटी नेहा (4) मंगलवार की देर शाम गली में खेल रहे थे इस दौरान घूरे से चूरन समझकर उन्होंने एक पुड़िया उठा ली और उसे तीनों ने बांटकर खा लिया। कुछ ही देर बाद तीनों को उल्टियां होने लगीं घरवाले जब तक कुछ समझ पाते तब तक अकरम ने दम तोड़ दिया और नेहा और नाजिश को गांव के एक डाक्टर के यहां भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान बुधवार की सुबह नेहा ने दम तोड़ दिया। हालत बिगड़ने पर परिजन नाजिश को सीएचसी गंजडुंडवारा ले गए, जहां वह जीवन और मृत्यु से संघर्ष कर रही है। गंजडुंडवारा के सीएचसी प्रभारी डा़ अजेन्द्र सिंह मलिक ने बताया कि सीएचसी पर केवल नाजिश को ही लाया गया जिसे बचाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है।

पिता के सामने ही बच्चों ने खायी दवाई

पटियाली। जिस समय तीनों बच्चे दवा खा रहे थे अकरम और नाजिश के पिता नबी हसन वहीं बैठे हुए थे उन्होंने रोकर बताया कि उसे क्या पता था कि चूरन के रूप में वे जहर खा रहे हैं। बरौना में दो बच्चों की मृत्यु के बाद घरों में चूल्हे नहीं जले। करवाचौथ के बाबजूद भी गांव में सन्नाटा पसरा रहा।

शासन स्तर से मदद दिलाने की जायेगी कोशिश: एसडीएम

पटियाली। एसडीएम परवेज अहमद ने बताया कि दोनों बच्चों की मृत्यु पर उनके परिजनों को शासन स्तर से मदद दिलाने का पूरा प्रयास किया जाएगा। मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से मदद दिलाने के लिए कार्यवाही की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three children died from eating rat killing medicine in Kasganj
From around the web