class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अफसरों को ड्रीम प्रोजेक्ट फिर से शुरू होने की उम्मीद

अफसरों को ड्रीम प्रोजेक्ट फिर से शुरू होने की उम्मीद

यमुना रिवर फ्रंट डेवलपमेंट एण्ड ब्यूटीफिकेशन के निर्माण पर एनजीटी द्वारा लगाई गई रोक के बाद नदी का कटान रोकने के लिए हो रहे शीट पाइलिंग का कार्य बंद हो गया है। वहीं अफसरों को हाईकोर्ट से राहत की उम्मीद बनी है। सिचाई विभाग सहित प्राजेक्ट के जुड़े अफसर कोर्ट के आदेश के अनुसार दो विभागों से स्वीकृति लेने के प्रयास में जुटे हैं।

विगत दिनों हाईकोर्ट में ड्रीम प्राजेक्ट को लेकर हुई सुनवाई में न्यायालय ने विभागीय अधिकारियों के अधिवक्ताओं को भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से निर्माण होने से पहले स्वीकृति लेने न लेने पर सवाल उठाया। इसका जवाब न बन पाने पर कोर्ट ने फिर से दोनों विभागों से स्वीकृति लेने को कहा। योजना के निर्माण से जुड़े विभागीय अधिकारी अब नगरवासियों के सहयोग से दोनों विभागों से स्वीकृति लेने की कोशिश में लगे हैं।

सिंचाई विभाग के एक्सईएन विवेक सिंह ने बताया कि ड्रीम प्रोजेक्ट के शुरुआत में एएसआई और प्रदूषण नियंत्रण विभाग से स्वीकृति लेनी थी। इस पर कोर्ट ने फिर से स्वीकृति लेने की बात कही है। इसके लिए इस मामले में पक्षकार बने यमुना रक्षक दल और धर्म रक्षा संघ के सहयोग से स्वीकृति लेने के प्रयास किए जाएंगे। स्वीकृति मिलने पर कार्य जल्द ही शुरू हो जाने की उम्मीद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dream project officers expected to resume