Image Loading Colony mahavidya septic tank accident occurred just a witness - Hindustan
सोमवार, 27 मार्च, 2017 | 04:20 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पढ़ें रात 11 बजे की टॉप खबरें, शुभरात्रि
  • आपकी अंकराशि: जानिए कैसा रहेगा आपका कल का दिन
  • यूपी के मांस विक्रेता कल से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे
  • जरूर पढ़ें: दिनभर की 10 बड़ी रोचक खबरें
  • प्राइम टाइम न्यूज़: पढ़े अब तक की 10 बड़ी खबरें
  • बॉलीवुड मसाला: जब रवीना ने अपने को-स्टार को जड़ दिए तीन थप्पड़!, पढ़ें बॉलीवुड की 10...
  • हिन्दुस्तान Jobs: NALCO में हो रही हैं प्रोजेक्ट मैनेजर समेत कई पदों पर भर्तियां,...
  • CAG शक्तिकांत ने कहा डिमोनेटाइजेशन के असर को ऑडिट करेगा कैग
  • नोटबंदी के बाद से डिजिटल पेमेंट के अलग-अलग तरीक़ों में काफ़ी वृद्धि देखने को...

सेप्टिक टैंक हादसे में हुई सिर्फ एक गवाही

मथुरा। हिन्दुस्तान संवाद First Published:01-12-2016 11:25:03 PMLast Updated:01-12-2016 11:30:13 PM

गोविंदनगर की महाविद्या कालोनी फेस-टू में एक सीवेज टैंक के ढह जाने और उसमें एक बच्चे की मौत के मामले में अभी तक केवल पिता के बयान हुए हैं। डिप्टी कलक्टर वैभव शर्मा ने नगरपालिका और मथुरा-वृंदावन विकास प्राधिकरण को अपना जवाब दाखिल करने का दूसरा पत्र भेजा है। इससे पहले भी पत्र भेजा गया था, लेकिन इन दोनों विभागों की ओर से जवाब नहीं आया था।

विगत 20 अक्टूबर गोविंदनगर में महाविद्या फेस टू के पार्क में सीवेज टैंक पटाखे के धमाके से ढह गया था। उस समय कुछ बच्चे वहां खेल रहे थे, जो मलबे में दब गए। उनमें से 12 वर्षीय पार्थ पुत्र जितेंद्र उर्फ पप्पू अस्थाना निवासी महाविद्या कालोनी की मौत हो गई थी। इस मामले में थाना गोविंदनगर में नगरपालिका व एमवीडीए के अधिकारियों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज करा दी गई थी। दूसरी ओर जिलाधिकारी नितिन बंसल ने डिप्टी कलक्टर वैभव शर्मा को इस हादसे की मजिस्ट्रीयल जांच सौंपी थी। जांचकर्ता ने हादसे से संबंधित सभी पक्षों से बातचीत व स्थलीय निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाने की कार्रवाई की।

डिप्टी कलक्टर वैभव शर्मा ने नगरपालिका और एमवीडीए के अधिकारियों को अपना जवाब दाखिल करने के लिए पत्र भेजा। लेकिन दोनों विभागों की ओर से कोई जवाब नहीं आया। अभी तक केवल मृत बच्चे के पिता जितेंद्र अस्थाना के ही बयान हुए हैं। अब फिर से जांचकर्ता ने नगरपालिका और एमवीडीए को अपना पक्ष रखने के लिए पत्र भेजा है।

एमवीडीए ने नगरपालिका को किया था हस्तांतरण

1997 में 14.33 एकड़ भूमि वाली महाविद्या कालोनी फेस टू में सड़क, सीवर लाइन, टैंक पार्क, नालियां व नाले, जलापूर्ति, विद्युतीकरण और सेप्टिक टैंक के कार्य एमवीडीए ने नगरपालिका को हस्तांतरित किए थे।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Colony mahavidya septic tank accident occurred just a witness
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड