Image Loading guru govind singh's poetry is taught in Defence Academy - LiveHindustan.com
मंगलवार, 27 सितम्बर, 2016 | 19:19 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पंजाब-हिमाचल सीमा पर संदिग्ध की तलाश, पठानकोट में संदिग्ध की तलाश जारी, पुलिस ने...
  • पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित को विदेश मंत्रालय ने किया तलब, उरी हमले के...
  • CBI ने सुप्रीम कोर्ट से बुलंदशहर गैंगरेप केस में कथित बयान को लेकर यूपी के मंत्री...
  • दिल्लीः कॉरपोरेट मंत्रालय के पूर्व डीजी बी के बंसल ने बेटे के साथ की खुदकुशी,...
  • मामूली बढ़त के साथ खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स 78.74 अंको की तेजी के साथ 28,373 और निफ्टी...
  • US Election Debate: ट्रंप की योजनाएं अमेरिका की अर्थव्यव्स्था के लिए ठीक नहीं, हमें सब के...
  • हावड़ा से दिल्ली की ओर जा रही मालगाड़ी पटरी से उतरी, सुबह की घटना, अभी रेल यातायात...
  • क्रिकेटर बालाजी 'रजनीकांत' के फैन हैं, आज बर्थडे है उनका। उनकी जिंदगी से जुड़े...

गुरु जी की रचना पढ़ाई जाती थी डिफेंस एकेडमी में

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो First Published:23-09-2016 06:25:00 PMLast Updated:23-09-2016 10:20:49 PM

गुरु गोविंद सिंह शस्त्रों के बड़े ज्ञाता थे। ‘शस्त्र नाम माला नाम की उनकी रचना में 101 शस्त्रों की विस्तृत जानकारी है। उन्होंने हर शस्त्र पर चार-चार छंद लिखे हैं। पहला छंद शस्त्र की जानकारी देता है, तो दूसरा उसे चलाने की कला बताता है। तीसरे में उस शस्त्र के वार की काट है तो चौथे छंद में उसके प्रहार से घाव लग जाए, तो क्या करें का जिक्र है। उनकी यह रचना नेशनल डिफेंस एकेडमी में भी पढ़ाई जाती थी।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: guru govind singh's poetry is taught in Defence Academy
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड