Image Loading Police say no one involved in the FIR in Siwan Shahabuddin name: Ranjan hope - LiveHindustan.com
गुरुवार, 29 सितम्बर, 2016 | 08:47 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पुजारा को लेकर अलग-अलग है कोच कुंबले और कोहली की सोच, इसके अलावा पढ़ें क्रिकेट और...
  • कर्क राशि वालों का आज का दिन भाग्यशाली साबित होगा, जानिए आपके सितारे क्या कह रहे...
  • वेटर, बस कंडक्टर से बने सुपरस्टार, क्या आपमें है ऐसा कॉन्फिडेंस? पढ़ें ये सक्सेस...
  • सवालों के घेरे में सीबीआई, रेल कर्मचारियों को सरकार का बड़ा तोहफा, सुबह की 5 खास...

कहने पर भी सीवान पुलिस नहीं जोड़ी एफआईआर में शहाबुद्दीन का नाम : आशा रंजन

हिन्दुस्तान टीम First Published:23-09-2016 06:39:00 PMLast Updated:23-09-2016 10:32:13 PM

सीवान। पत्रकार राजदेव हत्याकांड में सीबीआई की टीम को पूछताछ के क्रम में गुरुवार को दिवंगत पत्रकार की पत्नी आशा रंजन ने बताया कि उनके कहने के बावजूद सीवान पुलिस ने एफआईआर में राजद के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन का नाम नहीं जोड़ा। उन्होंने कहा कि राजदेव रंजन की हत्या 13 मई को की गई व हत्या के एक दिन बाद यानी कि 14 मई से ही वे कह रही हैं कि उनके पति की हत्या राजद के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन के इशारे पर की गई है।

पत्रकार हत्याकांड में आशा रंजन का बयान लेने पहुंचे सीबीआई के एसपी राजीव कपूर व डीएसपी समेत पांच अधिकारियों ने दिवंगत पत्रकार की पत्नी से राजदेव रंजन के दोस्त व दुश्मनों की भी जानकारी ली। इस सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि उनके पति कि किसी से दुश्मनी नहीं है, हालांकि उन्होंने राजदेव रंजन के एक करीबी दोस्त की जानकारी अवश्य सीबीआई टीम को दी।

सीबीआई ने आशा रंजन से उनके परिवार व रिश्तेदारों के संबंध में भी जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने परिवार व रिश्तेदारों की जानकारी सीबीआई को उपलब्ध कराने के साथ ही सभी का फोन नंबर भी उपलब्ध कराया।

इधर आशा रंजन ने शुक्रवार को बताया कि सुप्रीम कोर्ट में दायर उनकी याचिका पर केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की बेटी मंजू जेटली उनका पक्ष रख रही हैं।

उन्होंने बताया कि याचिका में उन्होंने सरकार से राजदेव हत्याकांड की सुनवाई बिहार से बाहर कराने, मुआवजा व अपने व बच्चों की सुरक्षा उपलब्ध कराने की मांग सरकार से की थी। उनकी इसी याचिका पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो रही है।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Police say no one involved in the FIR in Siwan Shahabuddin name: Ranjan hope
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड