Image Loading Kosi region's rail projects came up: Bijendra - LiveHindustan.com
शनिवार, 01 अक्टूबर, 2016 | 22:42 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • चीन के अड़ंगें से संयुक्त राष्ट्र में आतंकवादी घोषित नहीं हो सका जैश-ए-मोहम्मद...
  • आगरा में राहुल को लगा बिजली के करंट का झटका, बाल-बाल बचे
  • KOLKATA TEST: दूसरे दिन का खेल खत्म, न्यूजीलैंड का स्कोर 128/7
  • KOLKATA TEST: टीम इंडिया की पहली पारी 316 रनों पर सिमटी, साहा ने जड़ा पचासा
  • मां शैलपुत्री आज वो सबकुछ देंगी जो आप उनसे मांगेंगे, मां की ये कहानी जानकर आपको...
  • इस नवरात्रि आपको क्या होगा लाभ और कितनी होगी तरक्की, अपना राशिफल पढ़ने के लिए...
  • नवरात्रि: आज होगी मां शैलपुत्री की पूजा, जानिए आरती और पूजन विधि-विधान

कोसी क्षेत्र की रेल परियोजनाओं में तेजी आए : बिजेन्द्र

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो First Published:23-09-2016 08:33:00 PMLast Updated:23-09-2016 11:24:12 PM

ऊर्जा व वाणिज्यकर मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव ने सुपौल में बड़ी रेल लाइन बिछाने की मांग की है। शुक्रवार को नई दिल्ली में केन्द्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु से मिलकर उन्होंने यह मांग रखी। मुलाकात के दौरान ऊर्जा मंत्री ने कोसी क्षेत्र में चल रही रेलवे की अन्य परियोजनाओं पर भी अपनी बात रखी।

मंत्री ने कहा कि सकरी-निर्मली-सरायगढ़, सहरसा-सरायगढ़-फारबिसगंज और सुपौल-अररिया रेल लाइन को बड़ी रेल खंड में परिवर्तित करने की मांग की गई है। सुपौल व सरायगढ़ में दो रेलवे ओवरब्रिज की भी मांग की है, ताकि लोगों को यातायात में सुविधा हो सके। कोसी महासेतु के अलावा इस इलाके में रेलवे की कई परियोजनाएं चल रही हैं। कोसी क्षेत्र में चल रही रेलवे की तमाम परियोजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने की मांग की है। मुलाकात के दौरान मधेपुरा रेल फैक्ट्री चर्चा हुई। दूसरी ओर केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से शुक्रवार को भी मुलाकात की और बैकवर्ड रीजन ग्रांट फंड (बीआरजीएफ) में खर्च की गई राशि 5219 करोड़ 69 लाख की मांग की।

एक अप्रैल से हर हाल में लागू होगी जीएसटी : वहीं, जीएसटी काउंसिल की बैठक में तय हुआ कि हर हाल में एक अप्रैल 2017 से जीएसटी लागू किया जाएगा। 20 लाख तक के व्यवसाय पर व्यवसायिकों को पंजीकरण से छूट दी गई है। जीएसटी के राजस्व वसूली का आधार पिछले वित्तीय वर्ष 2015-16 को ही माना जाएगा। जीएसटी के तहत पंजीकृत व्यवसायियों में डेढ़ करोड़ तक के लिए राज्य सरकार जिम्मेवार होगी। जबकि इससे अधिक राशि होने पर एक विशेष कमेटी के फैसले पर केन्द्र सरकार निर्णय लेगी। जीएसटी पर अगली बैठक 30 सितम्बर को होगी।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Kosi region's rail projects came up: Bijendra
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड