Image Loading For added security, hope and reached the Supreme Court Ranjan - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 30 सितम्बर, 2016 | 20:38 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • श्रीलंका ने भी किया सार्क सम्मेलन का बहिष्कार, इस्लामाबाद में होना था सार्क...
  • पाकिस्तानी कलाकारों पर बोले सलमान, कलाकार आतंकवादी नहीं होते
  • सुप्रीम कोर्ट से जमानत रद्द होने के बाद शहाबुद्दीन ने किया सरेंडरः टीवी...
  • शहाबुद्दीन फिर जाएगा जेल, सुप्रीम कोर्ट ने जमानत रद्द की
  • शराबबंदी पर पटना हाई कोर्ट ने नोटिफिकेशन रद्द कर संशोधन को गैरसंवैधानिक कहा
  • KOLKATA TEST: पहले दिन लंच तक टीम इंडिया का स्कोर 57/3, पुजारा-रहाणे क्रीज पर मौजूद
  • INDOSAN कार्यक्रम में पीएम मोदी ने NCC को स्वच्छता अवॉर्ड से सम्मानित किया
  • कोलकाता टेस्ट से पहले कीवी टीम को बड़ा झटका, इसके अलावा पढ़ें क्रिकेट और अन्य...
  • भविष्यफल: मेष राशि वालों के लिए आज है मांगलिक योग। आपकी राशि क्या कहती है जानने...
  • कल से शुरू हो रहे हैं नवरात्रि, आज ही कर लें ये तैयारियां
  • PoK में भारतीय सेना के ऑपरेशन में 38 आतंकी ढेर, पाक का 1 भारतीय सैनिक को पकड़ने का...

अतिरिक्त सुरक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचीं आशा रंजन

हिन्दुस्तान टीम First Published:23-09-2016 06:41:00 PMLast Updated:23-09-2016 10:32:16 PM

पटना/सीवान। हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड की जांच सीबीआई ने तेज कर दी है। राजदेव रंजन की पत्नी आशा रंजन ने सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। सुप्रीम कोर्ट ने एसपी को नोटिस जारी की है। एसपी सौरभ कुमार साह ने कहा कि अभी तक सुप्रीम कोर्ट से नोटिस नहीं मिली है। मीडिया से जानकारी मिल रही है कि नोटिस जारी हुई है।

राजदेव रंजन की हत्या के बाद एसपी ने आशा रंजन को अत्याधुनिक हथियारों से लैस चार सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराये हैं। आशा रंजन शिक्षिका हैं, इसलिए दो सुरक्षाकर्मी स्कूल पर उनके स्कूल में रहने के समय तैनात रहते हैं। दो हमेशा घर पर रहते हैं। जो सुरक्षाकर्मी स्कूल पर रहते हैं, वे रात में घर पर तैनात रहते हैं। इस तरह चार सुरक्षाकर्मी उनके यहां तैनात हैं। हालांकि सुप्रीम कोर्ट में आशा रंजन ने बताया कि वे चार सुरक्षाकर्मी से सुरक्षित नहीं हैं, उन्हें अतिरिक्त सुरक्षा चाहिए।

उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि उन्हें पूर्व सांसद शहाबुद्दीन से खतरा है, इसलिए उन्हें और सुरक्षा की जरूरत है।

आशा रंजन ने कहा कि उन्हें उपलब्ध कराए गए सुरक्षाकर्मियों के रहने की व्यवस्था प्रशासन करे। कारण कि उनके पास उनके रहने के लिए मकान नहीं है। इसकी भी व्यवस्था प्रशासन को करनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट में बताया गया है कि राज्य सरकार शहाबुद्दीन को बचाना चाह रही है। राजदेव रंजन हत्याकांड के संदिग्ध मो. कैफ की तस्वीर शहाबुद्दीन व राज्य के स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप के साथ वायरल हुई थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने शहाबुद्दीन व तेज प्रताप पर नोटिस जारी की है। हांलाकि इस संदर्भ में नोटिस एसपी को नहीं मिली है।

क्या कहते हैं एसपी

एसपी सौरभ कुमार साह ने कहा है कि पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी आशा रंजन को सुरक्षा उपलब्ध कराई गई है। उनके स्कूल पर भी जवान तैनात रहते है। पुलिस की गश्ती दल नजर रखती है। सुप्रीम कोर्ट की नोटिस नहीं मिली है। सुरक्षा की समीक्षा कर जरूरत पड़ने पर सुरक्षा बढ़ाई जाएगी। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश का पालन किया जाएगा।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: For added security, hope and reached the Supreme Court Ranjan
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड