बुधवार, 26 नवम्बर, 2014 | 08:18 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    झारखंड में पहले चरण में लगभग 62 फीसदी मतदान  जम्मू-कश्मीर में आतंक को वोटरों का मुंहतोड़ जवाब, रिकार्ड 70 फीसदी मतदान  राज्यसभा चुनाव: बीरेंद्र सिंह, सुरेश प्रभु ने पर्चा भरा डीडीए हाउसिंग योजना का ड्रॉ जारी, घर का सपना साकार अस्थिर सरकारों ने किया झारखंड का बेड़ा गर्क: मोदी नेपाल में आज से शुरू होगा दक्षेस शिखर सम्मेलन  दक्षिण एशिया में शांति, विकास के लिए सहयोग करेगा भारत काले धन पर तृणमूल का संसद परिसर में धरना प्रदर्शन 'कोयला घोटाले में मनमोहन से क्यों नहीं हुई पूछताछ' दो राज्यों में प्रथम चरण के चुनाव की पल-पल की खबर
पाकिस्तान को 2-1 से हराकर फाइनल में भारत
दोहा, एजेंसी First Published:25-12-12 12:35 PM
Image Loading

भारत ने पहले हाफ के लचर प्रदर्शन से उबरते हुए चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को रोमांचक मुकाबले में 2-1 से हराकर एशियाई चैम्पियन्स ट्रॉफी हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई।
     
भारत की ओर से रुपिंदर पाल सिंह (36वें मिनट) और चिंग्लेसाना (51वें मिनट) ने गोल दागे, जबकि पाकिस्तान की ओर से एकमात्र गोल 57वें मिनट में मोहम्मद वकास ने किया।
     
छह टीमों के टूर्नामेंट में यह भारत की लगातार चौथी जीत है। भारतीय टीम ने इससे पहले चीन को 4-0, जापान को 3-1 और ओमान को 11-0 से हराया था।
     
भारत अपने अंतिम लीग मैच में कल मलेशिया से भिड़ेगा। भारतीय टीम अभी अपने चारों मैच जीतकर 12 अंक के साथ शीर्ष पर चल रही है जबकि पाकिस्तान और मलेशिया दोनों के चार-चार मैचों में सात-सात अंक हैं।
     
मध्यांतर तक दोनों की टीमें गोल करने में नाकाम रही, लेकिन दूसरे हॉफ में शानदार हॉकी का नजारा देखने को मिला। युवा दानिश मुज्तबा पाकिस्तान के डिफेंडरों को छकाते हुए सर्कल में पहुंचे, लेकिन विरोधी टीम के एक डिफेंडर ने उनका रास्ता रोक दिया, जिससे मलेशिया के अंपायर लिंगाम कारूपुसाकी ने दूसरे हॉफ के पहले मिनट में ही भारत को पेनल्टी स्ट्रोक दिया।
     
रुपिंदर पाल सिंह ने पेनल्टी स्ट्रोक को गोल में बदलकर भारत को 1-0 की बढ़त दिलाई। युवा चिंग्लेसाना ने इसके बाद 51वें मिनट में गुरविंदर सिंह चांडी के शानदार पास पर मैदानी गोल दागकर भारत को 2-0 से आगे कर दिया।
     
पाकिस्तान ने अपने तीसरे पेनल्टी कार्नर के दौरान गोल दागा, जबकि भारतीय गोलकीपर ने विरोधी ड्रैग फ्लिकर के शॉट को तो रोक दिया, लेकिन रिबाउंड पर मोहम्मद वकास ने गोल करके भारत की बढ़त को कम कर दिया। भारत ने गेंद की उंचाई को लेकर विरोध दर्ज कराया लेकिन अंपायरों ने इसे नकार दिया।
     
पाकिस्तान के गोल करने के तुरंत बाद भारत के उप कप्तान रघुनाथ को पीला कार्ड दिखाया गया, लेकिन टीम अंत तक अपनी बढ़त बरकरार रखते हुए जीत दर्ज करने में सफल रही।
     
पाकिस्तान को मैच के अंतिम लम्हों में पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन भारतीय डिफेंस ने विरोधी टीम के प्रयासों को नाकाम करते हुए उसे बराबरी हासिल करने से रोक दिया। भारत ने हालांकि कुछ मौकों पर कमजोर खेल भी दिखाया और टीम चार पेनल्टी कार्नर में से एक को भी गोल में नहीं बदल सकी।

 
 
 
टिप्पणियाँ