शुक्रवार, 04 सितम्बर, 2015 | 20:00 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
दूरसंचार नियामक ट्राई का कॉल ड्रॉप के लिए उपभोक्ताओं को मुआवजे का प्रस्ताव।RSS की बैठक में बोले मोदी, बड़े बदलाव के लिए काम कर रहे हैं, जल्द ही नतीजे सामने आएंगेपटना में निषाद समुदाय के प्रदर्शन के दौरान शामिल लोगों और पुलिस के बीच हुई झड़प में 25 घायलदिल्ली में लालू-मुलायम की बैठक खत्म, 5 सीटें मिलने से सपा नाराजदिल्ली: पीएम 6 सितंबर को करेंगे बदरपुर से फरीदाबाद तक चलने वाली मेट्रो का शुभारंभ
जर्मनी से हारने के बावजूद भारत ग्रुप में शीर्ष पर
मेलबोर्न, एजेंसी First Published:04-12-2012 02:50:41 PMLast Updated:04-12-2012 03:07:17 PM
Image Loading

भारत ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए ओलंपिक चैंपियन जर्मनी के खिलाफ बढ़त बनाई लेकिन उसे एफआईएच चैंपियंस ट्रॉफी हॉकी टूर्नामेंट के ग्रुप-ए के अपने आखिरी लीग मैच में मंगलवार को जर्मनी से 2-3 से हार का सामना करना पड़ा।
 
भारत ने इससे पहले इंग्लैंड को 3-1 से और न्यूजीलैंड को 4-2 से पराजित किया था। भारत और जर्मनी के एक बराबर 6-6 अंक रहे लेकिन बेहतर गोल औसत के आधार पर भारत को ग्रुप में शीर्ष स्थान मिला जबकि जर्मनी दूसरे, इंग्लैंड तीसरे और न्यूजीलैंड चौथे स्थान पर रहा।
 
इंग्लैंड ने रविवार को जर्मनी को 4-1 से पराजित किया था। इसी ग्रुप में न्यूजीलैंड और इंग्लैंड का मुकाबला 1-1 की बराबरी पर छूटा था। ग्रुप पर शीर्ष में रहने के बाद भारत को अब क्वार्टरफाइनल में ग्रुप-बी की चौथे नंबर की टीम बेल्जियम से गुरुवार को भिड़ना होगा। बेल्जियम ने अपना आखिरी लीग मुकाबला हॉलैंड से कड़े संघर्ष में 4-5 से गंवाया। बेल्जियम ने अपने तीनों ग्रुप मैच हारे।
 
वाइल्ड कार्ड से चैंपियंस ट्रॉफी में उतरे भारत के सामने सेमीफाइनल में जाने के लिए चैंपियंस चैलेंज विजेता बेल्जियम की चुनौती रहेगी। भारत बेल्जियम की चुनौती को कतई हल्के में नहीं ले सकता क्योंकि चैंपियंस चैलेंज टूर्नामेंट के फाइनल में बेल्जियम ने ही भारत को हराया था।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingपापा द्रविड़ के नक्शेकदम पर चला बेटा, दिखाया बल्ले का जौहर
द वॉल’ के नाम से मशहूर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ के बेटे ने भी अपने पिता के नक्शेकदम पर चलने का संकेत देते हुए स्कूल टीम को अपनी उम्दा बल्लेबाजी की बदौलत जीत दिला दी।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।