class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिर्जापुर :निधि पटेल ने उज्बेकिस्तान की धरती पर लहराया तिरंगा

मिर्जापुर :निधि पटेल ने उज्बेकिस्तान की धरती पर लहराया तिरंगा

मिर्जापुर की बेटी मेडल क्वीन व आयरन गर्ल के नाम से विख्यात अन्तरराष्ट्रीय खिलाड़ी निधि सिंह पटेल ने एक बार फिर विदेश की धरती पर बुधवार को भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए तिरंगा लहरा दिया। निधि ने उज्बेकिस्तान में 14 से 20 अक्तूबर तक चल रहे अन्तरराष्ट्रीय एशिया बेन्च प्रेस पावर लिफ्टिंग चैम्पियनशिप में 57 किलोग्राम भार वर्ग में अपने प्रतिद्वंद्वियों से कड़ा मुकाबला करते हुए 87.5 किलो भार उठाकर रजत पदक पर कब्जा जमाकर देश का नाम विश्व पटल पर रोशन कर दिया।

चुनार तहसील के छोटे से गांव पचेवरा की रहने वाली निधि पटेल का चयन एशिया बेंच प्रेस प्रतियोगिता के लिए हुआ था। लोगों की मदद से निधि को उज्बेकिस्तान तक का सफर तय करने का मौका मिला। वहां उसने अपनी प्रतिभा और मेहनत के बल पर विभिन्न देशों से आई महिला वेट लिफ्टरों से शुरू से ही कड़ा संघर्ष करती रही। आखिरी दौर तक ऐसा लग रहा था कि निधि पटेल भारत की झोली में गोल्ड मेडल डालने में सफल रहेंगी। लेकिन आखिरी दौर में पासा पलट गया और कड़ा मुकाबला करते हुए मामूली अंकों से कजाकिस्तान की सेलिवा इरिना से पीछे रहकर गोल्ड हासिल करने से चूक गईं। सेलिवा इरिना ने 105. 98 अंक के साथ गोल्ड मेडल प्राप्त किया। जबकि निधि सिंह पटेल ने 105.32 अंक के साथ रजत की हकदार बनीं।

वहीं कजाकिस्तान की ही कुरिशेवा ओल्गा ने 87.69 अंक के साथ तीसरे स्थान पाया। निधि के कोच कमलापति त्रिपाठी, सहयोगी विनय कुमार सिंह, अमरदीप सिंह, अपराजिता सिंह के साथ ही खेल प्रेमियों और खिलाड़ियों में निधि की इस उपलब्धि पर प्रशन्नता व्यक्त की। सभी ने निधि के उपलब्धि पर बधाई दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। कमलापति ने कहा कि निधि का दशमलव के अंकों में पिछड़ना खल गया। हालांकि उन्होंने यह कहते हुए अपने तसल्ली दी कि इससे पहले भी निधि ने कई बार विदेशी जमीन पर भारतीय तिरंगा लहरा चुकी हैं।

निधि के मिर्जापुर आने पर भव्य स्वागत की तैयारी

मिर्जापुर। निधि पटेल के 24 अक्तूबर तक जिले में आने की उम्मीद की जा रही है। इसे लेकर लोगों और संगठनों की ओर से भव्य स्वागत की तैयारी की जा रही है। लालमणि फिटनेस प्वाइंट और सभ्य समाज की ओर से निधि पटेल का स्वागत किया जाएगा। महिला प्रबोधित फाउंडेशन के डायरेक्टर विभूति कुमार मिश्र ने भी कहा कि निधि का स्वागत किया जाएगा।

दीपावली से पहले मिर्जापुर की बेटी ने दे दी खुशियां

मिर्जापुर। लोगों ने कहा कि जिले की बेटी निधि पटेल ने जिला ही नहीं प्रदेश और देश की झोली में खुशी डाल दी है। अब देश और प्रदेश की सरकारों को ऐसे प्रतिभावान खिलाड़ियों के बारे में सोचना चाहिए। कोच कमलापति त्रिपाठी ने कहा कि दूसरे प्रदेशों में पावरलिफ्टिंग प्रतियोगिता को बढावा दिया जा रहा है। खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। लेकिन यूपी में अभी तक खिलाड़ियों को उपेक्षा ही मिली है।

पत्थरों के रोलर से निधि ने सीख वेट लिफ्टिंग

मिर्जापुर। पचेवरा गांव की रहने वाली निधि पटेल ने पत्थरों के बने रोलर से वेटलिफ्टिंग में अंतराष्ट्रीय स्तर का खिलाड़ी बनने का सफर तय किया है। कालेज में चतुर्थश्रेणी कर्मचारी के पद पर तैनात पिता ने निधि का पूरा सहयोग किया। उन्होंने खुद पत्थरों को तरासकर वेट लिफ्टिंग की तैयारी कराने में निधि का सहयोग किया। आज भी निधि पटेल अभावों में पलकर आगे बढ रही है।

ये भी उपलब्धियां भी निधि पटेल के नाम

2010 में एशिया बेन्च प्रेस पावरलिफ्टिगं चैम्पियनशिप फिलिपीन्स में सिल्वर मेडल

2011 में एशिया बेन्च प्रेस पावरलिफ्टिगं चैम्पियनशिप ताइवान में ब्रांज मेडल

2011में कामनवेल्थ पावरलिफ्टिंग चैम्पियनशिप 2011 लंदन में पांच गोल्ड मेडल

2015 एशिया पावरलिफ्टिगं चैम्पियनशिप हांगकांग में ब्रांच मेडल

2015 एशिया बेन्च प्रेस पावरलिफ्टिगं चैम्पियनशिप ओमान में गोल्ड मेडल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mirzapur: Nidhi Patel waved the national flag on the soil of Uzbekistan