Image Loading Halfyearly examination will be monitered - Hindustan
मंगलवार, 24 जनवरी, 2017 | 10:36 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • आज के हिन्दुस्तान में पढ़ें एस श्रीनिवासन का विशेष लेख: तमिलनाडु में मुक्ति की...
  • मौसम अलर्ट: दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, रांची और देहरादून में हल्के बादल छाए रहने का...
  • आज के हिन्दुस्तान का ई-पेपर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
  • आज का भविष्यफल: कर्क राशि वालों को भाइयों का सहयोग मिलेगा, अन्य राशियों का हाल...
  • हेल्थ टिप्स: हर दिन 10 मिनट निकालें अपने लिए और ऐसे हो जाएं दुरुस्त
  • GOOD MORNING: चुनाव आयोग ने सशर्त बजट पेश करने की मंजूरी दी, माल्या मामले में IDBI के पूर्व...

अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन परीक्षा की होगी मॉनिटरिंग

गोपालगंज। हिन्दुस्तान संवाददाता First Published:19-10-2016 03:58:06 PMLast Updated:19-10-2016 04:00:18 PM

जिले के प्रारंभिक स्कूलों में 26 से 29 अक्टूबर तक होने वाली अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन परीक्षा की मॉनिटरिंग होगी। राज्य से आये अधिकारी प्रारंभिक स्कूलों में मूल्यांकन प्रक्रिया का अनुश्रवण करेंगे। अनुश्रवण के लिए राज्य की ओर से एएसपीओ शाहिद मोबिन की प्रतिनियुक्ति की गई है। उधर,जिले से भी अधिकारियों की टीम स्कूलों में पहुंचेगी। बहरहाल, स्थानीय बिहार शिक्षा परियोजना के तत्वावधान में परीक्षा की तैयारी तेज कर दी गई है। 25 अक्टूबर तक प्रधानाध्यापकों को प्रश्नपत्र उपलब्ध करा दिये जाने हैं।

परीक्षा के दौरान लेंगे व्यवस्था का जायजा : राज्य से आये अधिकारी प्रारंभिक स्कूलों में अर्द्धवार्षिक परीक्षा के दौरान व्यवस्था का जायजा लेंगे। अधिकारी देखेंगे कि मूल्यांकन के लिए वर्गकक्ष में छात्र-छात्राओं को व्यवस्थित तरीके से बैठाया गया है या नहीं। वर्गकक्ष में छात्र-छात्रा की संख्या अधिक तो नहीं है। इतना ही नहीं अधिकारी यह भी देखेंगे कि मूल्यांकन में भाग लेने वाले छात्र-छात्राओं को दूसरी कक्षा के छात्र-छात्राओं से कोई परेशानी तो नहीं हो रही, जैसे कि दूसरी कक्षा से आने वाले शोर से।

परीक्षा में नहीं चलेगी नकल : अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन परीक्षा में नकल नहीं चलेगी। राज्य से आये अधिकारी निरीक्षण के दौरान इस पर भी नजर रखेंगे कि मूल्यांकन के दौरान छात्र-छात्राओं को उत्तर लिखने में किसी शिक्षक या अन्य के द्वारा किसी प्रकार की मदद तो नहीं की जा रही है। अधिकारी इस पर भी नजर रखेंगे मूल्यांकन के दौरान शिक्षक व मूल्यांकनकर्ता का व्यवहार कैसा है।

शिक्षकों व बच्चों से राय लेंगे अधिकारी : मूल्यांकन परीक्षा में अनुश्रवण ही नहीं बल्कि अधिकारी मूल्यांकन के बाद भी सक्रिय रहेंगे। मूल्यांकन कार्य पूर्ण होने पर अधिकारी शिक्षक व प्रधानाध्यापक से बातचीत कर मूल्यांकन की प्रक्रिया, मासिक मूल्यांकन को शुरू करने, मॉडल प्रश्नपत्र कोष का उपयोग व प्रश्नपत्र के स्वरूप पर उनकी राय लेंगे। वहीं, बच्चों से भी मूल्यांकन के संबंध में बातचीत कर उनकी राय जानेंगे।

अर्द्धवार्षिक मूल्यांकन के आयोजन की तैयारी तेज कर दी गई है। समय पर प्रशनपत्र उपलब्ध हो सकें,इसके लिए कार्य किये जा रहे हैं। परीक्षा के एक दिन पहले प्रधानाध्यापकों को प्रश्नपत्र उपलब्ध करा दिये जायेंगे।

सूर्यनारायण, डीपीओ, प्रारंभिक शिक्षा

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Halfyearly examination will be monitered
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड