class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलरामपुर में कई शिक्षकों के प्रमाणपत्र मिले फर्जी

खुलासा

सत्यापन में हुआ खुलासा, 22 अक्तूबर तक रखें पक्ष

संबंधित लोगों को जारी किया गया नोटिस

जिले में कूटरचित व फर्जी प्रमाण पत्रों के सहारे नौकरी हथियाने का एक और मामला उजागर हुआ है। बीएसए ने 25 अध्यापकों का टीईटी व डीएड प्रमाण पत्रों का सत्यापन कराया तो सभी के अंकपत्र व प्रमाण पत्र मूल पत्रावली से भिन्न मिले हैं। इन सभी को दो बार अपना पक्ष रखने का अवसर दिया गया लेकिन कोई उपस्थित नहीं हुआ। बीएसए ने 22 अक्टूबर को अंतिम अवसर देते हुए सभी से अपना पक्ष रखने का नोटिस जारी किया है। इस तिथि पर पक्ष न रखने पर सेवा समाप्त कर दी जाएगी।

हाल ही में प्राइमरी स्कूलों में सहायक अध्यापकों की तैनाती की गई है। इनमें 24 अध्यापकों के टीईटी व एक का डीएड प्रमाण पत्र सत्यापन में मूल पत्रावली से भिन्न मिला है। इनमें प्राथमिक विद्यालय परसिया के प्रदीप कुमार, लालपुर के संजेश कुमार, प्रतापपुर लुधौरी, कवीन्द्र पटेल, पुरैना दिलीप सिंह, सिंहमुहानी के प्रवीन कुमार, मनकौरा कानूनगौ के जयराम, गुलवरिया की अलका यादव, गैड़ास बुजुर्ग द्वितीय के उदयभान सिंह यादव, रजडेरवा के अजीमुद्दीन, भगवानपुर रामपाल सिंह, नंदनपुर मनोज कुमार यादव, कुटीर मतलहा पजीहा शिवम कुमार यादव, मसीहाबाद पूनम देवी, चीनी की रिंको देवी, शिवपुर ग्रंट की नीलम देवी, जाफराबाद की पूनम देवी, नंदनगर सत्येन्द्र यादव, बिनौहनी गौरव यादव, पूरेहितान के सुरेन्द्र सिंह, सर्रा सोनू यादव, रेवतीपुरवा अमर सिंह, पटोहा मुकेश सिंह, रामपुर बनरहा सहीम, भुजेहरा नवीन अजीत कुमार, रामगढ़ मैटहवा राहुल कुमार सेमरा गुलरिहा राहुल यादव, सहायक अध्यापक शामिल हैं। इन सभी को 22 अक्टूबर को अपना पक्ष रखने के लिए दिया गया है। इसके बाद इनकी सेवा समाप्ति कर सुसंगत धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कराने की बात बीएसए रमेश यादव ने कही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tet 24 and yielded a fake BEd marksheet