शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 00:24 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
जिंदा बचे लोगों ने की सेना की तारीफ
देहरादून, एजेंसी First Published:22-06-13 08:07 PM

उत्तराखंड में बारिश और बाढ़ के कहर का सामना करके जिंदा बचे लोगों ने सेना की जमकर तारीफ करते हुए कहा है कि सेना ने उन्हें दूसरा जीवन दिया है। हेमकुंड साहिब के रास्ते में आठ दिन फंसे रहे लुधियाना के रहने वाले सुखविंदर सिंह ने कहा कि मैं आपदा आने के समय हेमकुंड साहिब के रास्ते में था। समय बीतने के साथ स्थिति और बिगड़ गई। सेना के मोर्चा संभालने पर हमें थोड़ी राहत मिली। उन्होंने हमें भोजन, पानी दिया और हरसंभव तरीके से मदद की। अगर यहां वे नहीं होते तो हम जिंदा नहीं बच पाते।

बीते दिनों का डरावना अनुभव साझा करते हुए हर साल हेमकुंड साहिब जाने वाले अमन बिष्ट ने कहा कि सड़क टूट गई थी और कोई पुल नहीं बचा था। और जहां भी सड़क है, यह टूटी हुई है। सेना ने बहुत मदद की। एक और जिंदा बचे पंजाब के व्यक्ति ने कहा कि वह केवल सेना के जवानों की मदद से अपने परिवार से संपर्क कर पाए।

 
 
 
टिप्पणियाँ