class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हंसराज कॉलेज के योग सलाहकार ने लिम्का बुक में दर्ज कराया नाम

नई दिल्ली। वरिष्ठ संवाददाताएक घंटे में सूर्य नमस्कार की 535 मुद्राएं करके डीयू के हंसराज कॉलेज के वरुण आर्य ने लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया है। वरुण ने 12 चरणों में बिना रुके ये सभी आसन किए हैं। लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के वर्ष 2018 संस्करण के लिए उनका नाम चुना गया है। 15 मई को यह उपलब्धि उनके नाम दर्ज हुई है। वरुण बताते हैं कि वह जब छठी कक्षा में थे तभी से उनकी योग के प्रति रुचि है। नौवीं तक पहुंचते-पहुंचते उन्होंने योग में ही भविष्य बनाने की सोची। गुरुकुल से 12वीं तक शिक्षा पाने के बाद उन्होंने हंसराज कॉलेज से संस्कृत में स्नातक किया। इसके बाद गुरुकुल कांगड़ी विवि से योग में परास्नातक डिप्लोमा हासिल किया। वहां से आकर वह हंसराज कॉलेज में योग सलाहकार बने। वह बताते हैं कि शिक्षा प्राप्ति के दौरान बचपन के आठ साल पुष्कर के जंगलों में बने गुरुकुल के आश्रम में बिताए हैं। वहां मैंने प्रकृति को बेहद करीब से महसूस किया। यहीं से मैंने प्रकृति से बहुत कुछ सीखा। प्रकृति ही मेरी पहली गुरु है। इसके अलावा बचपन से ही सादा भोजन करने की जो आदत पड़ी, वह भी आगे चलकर फायदेमंद रही है। योग बना जिंदगी का खास हिस्सावरुण कहते हैं कि बचपन से ही योग उनकी जिन्दगी का खास हिस्सा बन चुका है। वह कहते हैं कि मेरा अगला लक्ष्य 100 घंटे में 10 हजार सूर्य नमस्कार करने का है। इस तरीके से मैं लोगों को योग के प्रति जागरूक करना चाहता हूं। हमारे देश में इन दिनों जीवनशैली से संबंधित बीमारियां लोगों को खास तौर पर जकड़ रही हैं। लोगों की पाचन क्रिया दिन ब दिन कमजोर हो रही है। अगर हम अपनी नई पीढ़ी को ही सात्विक भोजन और योग के महत्व से जोड़ें तो ये बीमारियां एक हद तक रोकी जा सकती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:yoga
योग दिवस के चलते आज सीपी में प्रतिबंधित रहेंगे वाहनदिल्ली का पहला फ्री वाईवाई गांव बना कादीपुर