class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाने परिसर में हेडकांस्टेबल की मौत, हत्या में मामला दर्ज

नई दिल्ली। कार्यालय संवाददाता रोहिणी जिले के विजय विहार थाने में बुधवार देर रात हेड कांस्टेबल राजेश की गोली लगने से मौत हो गई। इससे पुलिस में हड़कंप मच गया और आननफानन में पहुंची फॉरेंसिक टीम और क्राइम ब्रांच ने घटनास्थल पर छानबीन की। आला अधिकारियों ने भी मौका-मुआयना किया। पुलिस ने हत्या की धाराओं में मुकदमा दर्ज करके जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी है। उधर, राजेश के बड़े बेटे नितिन का आरोप है कि उसके पिता की हत्या हुई है। वह अक्सर थाने में उनके प्रति हो रहे गलत बर्ताव के बारे में बताते थे। वहीं, परिजनों की मांग पर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए बोर्ड के गठन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। डीसीपी ऋषिपाल के अनुसार, 45 वर्षीय हेड कांस्टेबल राजेश मूल रूप से सोनीपत के खरखौदा गांव के रहने वाले थे। दो वर्ष से वह विजय विहार थाने में तैनात थे। रात करीब साढ़े दस बजे थाना परिसर स्थित पार्किंग में राजेश और एक अन्य कांस्टेबल बात कर रहे थे। इसी दौरान लोगों ने बंदूक से फायरिंग की आवाज सुनी। तुरंत अन्य पुलिसकर्मी घटनास्थल की तरफ भागे। उन्होंने देखा कि राजेश खून से लथपथ पड़ा हुआ है और दूसरा हेडकांस्टेबल वहीं खड़ा है। इसके बाद जिले की फॉरेंसिक टीम और क्राइम ब्रांच ने घटनास्थल का मुआयना किया। संयुक्त पुलिस आयुक्त राजेश खुराना ने भी घंटों मौका-ए-वारदात पर छानबीन की। शुरुआती जांच में पुलिस इसे आत्महत्या मान रही थी, लेकिन परिजनों के विरोध को देखते हुए हत्या का मामला दर्ज किया गया। राजेश दो वर्ष से रोहिणी सेक्टर 17 के निकेतन कुंज में पत्नी राजेश कुमारी और बड़े बेटे नितिन के साथ किराए के मकान पर रह रहा था। उनका छोटा बेटा आशीष राई के मोतीलाल नेहरू स्पोर्ट्स स्कूल में पढ़ता है। पत्नी ने बताया कि राजेश बुधवार शाम को नाइट ड्यूटी के लिए घर से चले थे। रात करीब 11 बजे सूचना मिली कि पति को अंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, वहां पहुंचने पर पता चला कि गोली लगने से उनकी मौत हो चुकी है। गोली गर्दन से कुछ ऊपर बायीं तरफ लगी थी और दोनों हाथों पर भी चोट के निशान थे। पत्नी के अनुसार, उस समय वहां मौजूद एक महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि राजेश का थाने में कुछ पुलिकर्मियों से किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। हालांकि, बाद में पुलिस कहने लगी कि राजेश ने थाना परिसर स्थित पार्किंग में एक पुलिसकर्मी से सर्विस पिस्टल लेकर खुद को गोली मार ली। पुलिसकर्मियों द्वारा आत्महत्या करने के मामले 8 सितंबर : न्यू पुलिस लाइन मुखर्जी नगर में एसआई बल्लेराम ने गोली मारकर खुदकुशी कर ली 29 अगस्त : दिल्ली कैंट थाने में हेड कांस्टेबल प्रमोद कुमार ने खुदकुशी की 23 अगस्त : कालिंदी कुंज में एएसआई देवेंदर ने एसएचओ पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए खुदकुशी की 11 मई : चितरंजन पार्क इलाके में डीआईयू में तैनात इंस्पेक्टर कौशल गांगुली ने गोली मारकर खुदकुशी की

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:vijay vihar
साजिश रच पति की कराई हत्या फिर बनी शिकायतकर्ताहवा से नमी खींचकर पानी बनाएगा वाटर एटीएम