class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मॉल में सीवर की सफाई करने गये सगे भाइयों की मौत

नई दिल्ली। वरिष्ठ संवाददाताआनंद विहार इलाके में मॉल के अंदर सीवर की सफाई करने उतरे दो सगे भाइयों की मौत हो गई, वहीं घटना में पिता और बचाने पहुंचे फायरकर्मी की हालत गंभीर बताई जा रही है। इस बावत पुलिस ने लापहरवाही से मौत की धारा में केस दर्ज कर लिया है। मॉल संचालकों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। घटना शनिवार दोपहर की है। मौत की वजह सीवर के अंदर घुसने से जहरीली गैस के कारण दम घुटना बताई गई है। शाहदरा जिले की डीसीपी नूपुर प्रसाद ने बताया कि पुलिस को करीब डेढ़ बजे जानकारी मिली थी कि आनंद विहार अग्रवाल फन सिटी मॉल में चार लोग सीवर की सफाई के दौरान बेहोश हो गये हैं। सीवर मॉल के बेसमेंट में हैं। सबसे पहले सीवर की सफाई करने के लिए 24 साल का जहांगीर और 22 साल का इजाज गया था। ये दोनों ही सगे भाई हैं, इस दौरान इजाज सीवर में पैदा हुई जहरीली गैस के कारण बेहोश हो गया और उसमें डूब गया। इस दौरान उनका पिता 50 साल का यूसूफ भी अपने बेटे को बचाने के लिए अंदर सीवर में उतर गया। इस दौरान वहां मौजूद मजदूरों ने इसकी सूचना दमकल और पुलिस को भी दे दी थी। जिसके बाद फायरकर्मी हेडकांस्टेबल महिपाल उन्हें बचाने के लिए उतरा लेकिन वह असंतुलित होने के कारण दीवार से जा टकराया और सीवर के अंदर पैदा हुई गैस की चपेट में आ गया और उसमें गिर गया। जिसके बाद दमकल और पुलिस कर्मचारियों ने सीवर से गिकली गैस से बेहोश चारों लोगों को वहां से निकाला और सभी को डॉ. हेडगेवार अस्पताल लेकर गये। हालांकि इस दौरान जहांगीर ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, वहीं इजाज की हालत पहले डॉक्टरों ने गंभीर बताई थी। उसकी भी इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं फायरकर्मी हेडकांस्टेबल महिपाल का उपचार जारी है। पुलिस ने बताया कि यूसुफ बयान देने के लिए तैयार है, उसके बयान का पुलिस इंतजार कर रही है। नीचे जाते ही आने लगा चक्कर मॉल में मौजूद सफाई मजदूरों के एक साथी ने बताया कि तीनों सफाई कर्मी मॉल के बेसमेंट में मौजूद सीवर की सफाई करने के गये थे। इस दौरान अन्य लोग बाहर खड़े थे। सफाई करने के लिए तीनों टैंक में उतर गए थे। लेकिन नीचे जाते ही सभी को चक्कर आने लगा और वह बेहोश हो गये। इसके बाद इसकी जानकारी मॉल संचालक अरुण को दी गई, बाद में पुलिस को इस बारे में बताया गया। इस दौरान मौके पर पहुंची दमकल और पुलिस की टीम ने तीनों को सीवर से बाहर निकाला हालांकि इस दौरान महिपाल भी गैस की चपेट में आकर बेहोश हो गया। डीसीपी नूपुर प्रसाद ने बताया कि पुलिस ने मॉल संचालकों के खिलाफ लापरवाही से मौत का मामला दर्ज कर लिया है। स्क्रैप उठान के काम करते थेयुसूफ अपने परिजनों के साथ मूलत: साहिबाबाद के शालीमार गार्डन का रहने वाला था। बेटे जहांगीर और एजाज के अलावा परिवार में पत्नी जहांनुर और बेटी रिहाना है। युसूफ बेटों के साथ मॉल में स्क्रैप उठानके का काम करते थे। कभी कभार बेसमेंट में बने सीवर टैंक की सफाई कर दिया करते थे। इसके बदले उन्हें अलग से पैसा मिल जाता था। सीवर बेसमेंट में दूसरी मंजिल के कमरे में बना हुआ था। यहां मॉल का गंदा पानी और सीवेज का कचरा आता था। शुक्रवार को उन्हें इस बारे में बताया गया था कि इसकी सफाई करनी है, जिसके बाद वह मॉल पहुंच गये थे। बिना सुरक्षा तंत्र के साथ उतरे थे इस मामले में मॉल संचालकों की लापहरवाही सामने आई है, जिसमें पता चला है कि तीनों ही बिना सुरक्षा तंत्र के साथ उतरे थे। वे केवल एक रस्सी के सहारे उतरे थे। पहले दोनों भाई रस्सी के सहारे उतरे फिर जब एक इजाज की आवाज पिता युसूफ को आनी बंद हुई तो वह भी अंदर उतर गये, इसके बाद जहांगीर और यूसुफ भी सीवर में गये तो उनकी आवाज आनी बंद हो गई। घटना की जानकारी मिलने के बाद सफाई कर्मचारी नेता राजकुमार धींगान भी अस्पताल पहुंच गये, राजकुमार का कहना था कि का कहना है कि मॉल प्रबंधन ने सफाई कर्मचारियों को बिना सुरक्षा तंत्र के साथ उतार दिया था। हाल में हुई घटनाएं - 6 अगस़्त को लाजपत नगर में तीन मजदूरों की जान चली गई थी। यह लोग जल बोर्ड के सीवर की सफाई के लिए उतरे थे। पर अंदर जाते ही उसमें मौजूद जहरीली गैस के चपेट में आ जाने से तीन की मौत हो गई थी। -15 जुलाई को घिटोरनी इलाके में टैंक की सफाई के लिए उतरे चार लोगों की मौत हो गईथी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Two brothers killed in anand vihar while cleaning the sever
मेट्रो कार्ड देगा कलस्टर बसों में टिकट से आजादीसरकार ने अपनी विफलताओं का ठीकरा उपराज्यपाल पर फोड़ा : भाजपा