class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चोरी के पैसे से करता था समाज सेवा और अय्याशी

Irfan was arrested from Bihar’s Pupri district July 6.

1 / 2Irfan was arrested from Bihar’s Pupri district July 6.

Irfan is a class 5 drop-out and was involved in as many as 12 cases of burglary in the capital.

2 / 2Irfan is a class 5 drop-out and was involved in as many as 12 cases of burglary in the capital.

PreviousNext

दक्षिण पूर्व दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे युवक को गिरफ्तार किया है जो चोरी के रुपये से लोगों के लिए चिकित्सा शिविर लगाता था। साथ ही, वह अब तक गरीब घर की आठ लड़कियों की शादी भी करा चुका था। वहीं, वह कुख्यात चोर बंटी की तरह लाखों रुपये अपनी अय्याशी पर भी खर्च कर दिए। पुलिस ने उसके कब्जे से 25 लाख रुपये के सोने एवं हीरे के आभूषण बरामद किए हैं। आरोपी पर दिल्ली-एनसीआर में चोरी के एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं।

डीसीपी रोमिल बानिया ने बताया कि 24 मई को न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी निवासी राजीव खन्ना के घर में लाखों रुपये के सोने और हीरे के आभूषण चोरी हो गए थे। मामले की जांच के लिए स्पेशल स्टाफ के इंस्पेक्टर राजेंद्र कुमार और एसआई योगेंद्र तंवर की टीम का गठन किया गया। 

सीसीटीवी फुटेज आदि की जांच से मिले सुराग से पुलिस को मालूम हुआ कि इस वारदात के पीछे सीतामढ़ी के गिरोह का हाथ है। अंत में पुलिस ने 6 जुलाई को सीतामढ़ी से इरफान उर्फ उजाला उर्फ आर्यन को गिरफ्तार कर लिया। इसकी निशानदेही पर चोरी का सामान खरीदने वाले धर्मेंद्र को भी गिरफ्तार कर लिया।

मोबाइल से सुराग मिला
वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरापी इरफान ने कुख्यात चोर बंटी को देखकर वारदात के गुर सीखे। वह घटनास्थल पर कोई सबूत नहीं छोड़ता था। मगर न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में वह मकान मालिक के आने के कारण अपना मोबाइल वहीं छोड़ कर भाग गया था। पुलिस मोबाइल के जरिए उसके तलाश में जुट गई। मगर वह लगातार अपने नंबर बदलता रहता था। यही नहीं, उसने अपने रिश्तेदारों तक के मोबाइल नंबर बदलवा दिए थे। मगर अंत में पकड़ा गया।

तीन वर्ष पहले दिल्ली आया
आरोपी इरफान महज कक्षा पांच तक पढ़ा है। वह तीन वर्ष पहले ही रोजी रोटी की तलाश में दिल्ली आया। शुरू में उसने बवाना इलाके में कपड़े की दुकान लगाना शुरू किया। मगर, जल्द ही उसने वह काम छोड़ दिया और अपराध की दुनिया में शामिल हो गया।

राजनीति में उतरना चाहता था
पुलिस पूछताछ में आरोपी इरफान ने बताया कि वह भविष्य में राजनीति में उतरना चाहता था। इसलिए वह अपने गांव में अक्सर चिकित्सा शिविर का आयोजन करता था। वह अबतक आठ युवतियों की शादियां करा चुका था। गांव के लोग इरफान को दिल्ली का बड़ा व्यवसायी समझते थे। 

फेसबुक पर अय्याशी की तस्वीरे अपलोड करता था
आरोपी इरफान मुम्बई और दिल्ली के बार में रुपये उड़ाता था। महंगी कारों, डिजाइनर कपड़ों और विलासिता पूर्ण जीवन का शौकीन इरफान बार में एक-एक गाने की फरमाइश पूरी करने पर दस-दस हजार रुपये उड़ाता। भोजपुरी फिल्मों की एक अभिनेत्री उनकी खास महिला मित्रों में शुमार थी। वह फेसबुक पर वह अपनी विलासितापूर्ण  जीवन और अय्याशी की तस्वीरें अपलोड करता रहता था। 

मां की परवाह नहीं करता था
अपने अय्याशियों पर इतना रुपया खर्च करने के बाद भी इरफान अपनी मां को वह चंद हजार रुपये के लिए तरसाता था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि वह गरीबी से जूझ रही अपनी बीमार मां को दो से ढाई हजार रुपये देकर टरका देता था। उसे मां की कोई परवाह नहीं थी।

बंटी की तरह अकेले करता था चोरी
पूछताछ में इरफान ने बताया कि वह सुपर चोर बंटी से प्रेरित था। इसलिए वह अक्सर अकेले ही चोरी की वारदात को अंजाम देता। घटना के समय वह नंगे पैर रहता था। इसके पीछे उसका तर्क था कि नंगे पैरों से पाइप आदि पर चढ़ने में आसानी होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Social service and pilferage was done with theft money
विश्वविद्यालय से जहांगीरपुरी की बीच मेट्रो में आई खराबी, लोग रहे परेशानफटकार: एनजीटी ने पूछा, दिल्ली में कब खत्म होंगे कूड़े के पहाड़