class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

48 घंटे बाद इलाज के दौरान नवजात की मौत

सफदरजंग अस्पताल में रविवार सुबह जन्मे अविकसित नवजात की सोमवार शाम करीब सवा चार बजे इलाज के दौरान मौत हो गई। अस्पताल प्रशासन के मुताबिक, नवजात की मौत अविकसित अवस्था में जन्म लेने की वजह से हुई है। गौरतलब है कि रविवार सुबह पीड़ित पिता रोहित ने अपनी पत्नी को एकाएक दर्द होने पर सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां महिला ने अविकसित बच्चे को जन्म दिया। नवजात को डॉक्टरों ने मृत घोषित करके परिजनों को सौंप दिया था। मगर अंतिम संस्कार के दौरान नवजात के शरीर में हरकत देखने के बाद परिजनों को उसके जिंदा होने का पता चला। इस मामले में सफदरजंग अस्पताल ने जांच कमेटी गठित की है। कमेटी पता लगाएगी कि आखिर किसकी लापरवाही से नवजात को मृत घोषित कर परिजनों को सौंप दिया गया था। सफदरजंग अस्पताल में स्त्री रोग विशेषज्ञ प्रीतमा मित्तल ने बताया कि नवजात की मौत सोमवार शाम करीब सवा चार बजे इलाज के दौरान हो गई। नवजात की मौत अधिक अविकसित अवस्था में पैदा होने की वजह से हुई है। मौत के दो घंटे बाद तक उसे निगरानी में रखा गया और सघन जांच के बाद ही उसे परिजनों को सौंपा गया। पीड़ित ने लापरवाही का आरोप लगाया नवजात के पिता रोहित ने बताया कि पूरा मामला सामने आने के बाद से डॉक्टर सिर्फ नवजात पर ध्यान दे रही हैं। रविवार से ही मेरी पत्नी की हालत भी गंभीर है, लेकिन डॉक्टर उसे प्राथमिकता से नहीं देख रहे हैं। पत्नी को दो यूनिट खून चढ़ाने की बात कही गई थी, लेकिन अभी तक सिर्फ आधा यूनिट खून ही चढ़ाया गया है। हालांकि, रोहित के आरोपों को डॉक्टरों ने बेबुनियाद बताया है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:new born baby dies
घर में घुसकर किशोर पर चलाई गोली, पास में बैठी किशोरी घायलराजधानी में अगले तीन दिन झमाझम बारिश