class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेता बनना छोड़िये, कार्यकर्ता बने : नितिन गडकरी

नई दिल्ली . प्रमुख संवाददाता दिल्ली से बार-बार चूक रही भाजपा को अब 2019 की चिंता है। यह चिंता गुरुवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी जाहिर की है। उन्होंने दिल्ली के नेताओं को साफ कहा है कि वे नेतागिरी छोड़कर बतौर कार्यकर्ता बने। यह मंत्र ही दिल्ली में भाजपा को मजबूती दे सकता है। उन्होंने चिंता जाहिर की कि कार्यकर्ता जीत मिलने के बाद नेताओं की तरह बर्ताव करने लगते हैं। जिससे दूरियां बढ़ती है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के कार्यकर्ताओं में जीत की अपार संभावनाएं हैँ। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले 2 वर्ष में दिल्ली के लिये 40,000 करोड़ से अधिक के मूलभूत ढांचे के विकास योजनाएं लागू करने का फैसला लिया है। इससे दिल्ली को ट्रैफिक जाम एवं प्रदूषण से भी मुक्ति मिलेगी। मेरठ जाने वाले एनएच-24 के विकास के लिये 6000 करोड़ की योजना है, जिसके चलते गाजीपुर का सारा कूड़े का पहाड़ सड़क निर्माण में ही खप जायेगा। दल्लिी के धौलाकुआं से जयपुर , मुकरबा चौक से पानीपत तक और द्वारका एक्सप्रेस वे एवं नॉर्थ वेस्ट कॉरीडोर के लिये केन्द्र ने हजारों करोड़ रूपया स्वीकृत किया है। वे नई दिल्ली के कंवेशन हॉल में दिल्ली भाजपा के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रहे थे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि जहां एक ओर केन्द्र सरकार जनता के विकास के लिये काम कर रही है वहीं दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार घोटाले पर घोटाले कर रही है। मोहल्ला क्लीनिक, जलबोर्ड, बिजली कंपनियां, लोक निर्माण विभाग में भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार है। मंत्री और विधायक भ्रष्टाचार में मस्त हैं और स्थिति इतनी खराब हो गई है कि सरकार की लापरवाही के चलते डेढ़ माह में 11 सफाईकर्मी अपने प्राण गवां चुके हैं। इस मौके पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू, महामंत्री डॉ. अनिल जैन, संगठन महामंत्री सिद्धार्थन, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता, केन्द्रीय मंत्री विजय गोयल, राष्ट्रीय मंत्री एवं सांसद महेश गिरी, सांसद रमेश बिधूड़़ी, प्रवेश वर्मा, मीनाक्षी लेखी समेत अन्य नेता उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:need be a worker first : bjp
रामजस घटना ‘विद्रोह नहीं, इसे बढ़ावा न दें: अदालतएनजीटी में सदस्यों के खाली पदों को भरने में तेजी लाए सरकार-हाईकोर्ट