class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जामिया में काली पट्टी बांधकर भीड़ की हिंसा का विरोध

जामिया मिल्लिया इस्लामिया में शिक्षकों और छात्रों ने देशभर हो रही भीड़ की हिंसा के खिलाफ काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराया। सोमवार को विश्वविद्यालय में नए सत्र का पहला दिन था। शिक्षकों और अध्यापकों ने जामिया परिसर में भ्रमण करते हुए काली पट्टी बांधकर शान्ति, सद्भाव और एकता का संदेश दिया। इस प्रदर्शन में छात्र भी भारी संख्या में शामिल हुए। जामिया शिक्षक संघ के अध्यक्ष भी इस प्रदर्शन में शामिल रहे। जामिया के लैटिन अमेरिकन स्टडीज विभाग की प्रोफेसर सोन्या सुरभि गुप्ता ने कहा कि हम भारत की संप्रभुता और अखंडता के लिए यहां एकत्र हुए हैं। मुझे इस बात का गर्व है कि मैं जामिया जैसे संस्थान की सदस्य हूँ। यह संस्थान देश की स्वाधीनता की नींव बनी और इसके संस्थापकों ने राष्ट्र प्रेम की भावना के साथ इस संस्थान की स्थापना की थी और आज इसी राष्ट्र की स्वाधीनता पर हमले हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि भीड़ की ओर से किए गए हमले मे मरने वाले व्यक्ति, एक अकेला व्यक्ति नहीं होता जबकि पूरा संवेदनशील मानव समाज उस दिन मर जाता है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:jamia mob lynching protest
सड़क दुर्घटना में किशोर की मौतनॉन कॉलेजिएट की चौथी कटऑफ 8 फीसदी तक गिरी