class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधानसभा में नारेबाजी व पर्चा फेंकने का मामला: पिटाई करने वाले विधायकों के नाम बताने का निर्देश

सदन की कार्यवाही के दौरान नारेबाजी करने और पर्चे फेंकने के आरोप में जेल भेजे गए युवकों के साथ कथित तौर पर मारपीट करने वाले विधायकों की मुश्किलें बढ़ सकती है। हाईकोर्ट ने सोमवार को दोनों युवकों से उन विधायकों के नाम बताने के लिए कहा है कि जिन्होंने उनके साथ मारपीट की है। जस्टिस सिद्धार्थ मृदुल व नज्मी वजीरी की पीठ ने यह आदेश तब दिया जब जेल से पेशी पर आए जगदीप राणा और राजन कुमार मदन ने कहा कि उनके साथ विधायकों ने बेरहमी से पिटाई की है। इस पर पीठ ने कहा कि आप हलफनामा दाखिल कर उन विधायकों के नाम बताइए जिन्होंने आपके साथ मारपीट की है। पीठ ने कहा कि इसके बाद ही हम इसमें कुछ कर सकते हैं। हाईकोर्ट ने कहा कि ऐसे में सभी विधायकों नोटिस जारी का जवाब नहीं मांग सकते। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने कहा कि राणा और मदन को कानूनी प्रावधानों के तहत सजा देकर जेल भेजा गाया है। उनकी ओर से विधानसभा के उप सचिव ने पीठ को बताया कि इस मामले में बंदीप्रत्यक्षिकरण याचिका पर सुनवाई नहीं हो सकती। उन्होंने युवकों की ओर से दाखिल याचिका खारिज करने की मांग की। इसके जवाब में राणा और मदन की ओर से अधिवक्ता प्रदीप राणा ने कहा कि उनके मुवक्किल का अपराध इतना गंभीर नहीं थी कि इसमें कठोर सजा देकर जेल भेजा जाए। अधिवक्ता राणा ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष ने नियमों की अनदेखी और अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर उनके मुवक्किल को सजा सुनाई है। इस पर हाईकोर्ट ने उन्हें जवाबी हलफनामा दाखिल करने का निर्देश देते हुए मामले की सुनवाई 26 जुलाई तक के लिए स्थगित कर दिया। विधानसभा में कार्यवाही के दौरान 28 जून को राणा और मदन विधानसभा के दर्शक दीर्घा में बैठे थे और उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के इस्तीफे की मांग करते हुए नारेबाजी की और उनकी तरफ पर्चे फेंके थे। विधानसभा अध्यक्ष ने इसे गंभीरता से लेते हुए दोनों युवकों को जेल भेज दिया था। नियमों की वैधानिकता को चुनौती जेल भेजे गए युवकों ने हाईकोर्ट में एक और याचिका दाखिल कर विधानसभा के कार्यवाही की प्रक्रिया और संचालन के नियम 75 की संवैधानिकता को चुनौती दी है। इस पर हाईकोर्ट ने विधानसभा अध्यक्ष को पक्ष रखने के लिए कहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Instructions for giving names of MLAs who beating
थाइलैंड की राजकुमारी ने किया डीयू का दौराएसआरसीसी शिक्षक से मारपीट मामला : शिक्षक बोले डीयू में डर का माहौल