class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसआरसीसी शिक्षक से मारपीट मामला : शिक्षक बोले डीयू में डर का माहौल

दिल्ली हाईकोर्ट की पिछले सप्ताह डीयू में शिक्षकों से मारपीट की घटनाओं पर की गई सख्त टिप्पणी के बाद भी विश्वविद्यालय में शिक्षकों से बदतमीजी और हिंसा की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। पिछले सप्ताह की गई अदालत की सख्त टिप्पणी के बाद शिक्षकों से मारपीट और बदसलूकी के तीन मामले सामने आए हैं। शुक्रवार को श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में एक छात्र पर अपने शिक्षक को बुरी तरह पीटने का आरोप लगा है। इस घटना के बाद शिक्षकों में भय का माहौल है। कई शिक्षकों ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर आरोप लगाया है कि मारपीट करने वाले छात्रों पर कार्रवाई न होने की वजह से ऐसी घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। डूटा की अध्यक्ष नंदिता नारायण का कहना है कि पिछले कुछ समय से शिक्षकों के साथ मारपीट की घटनाएं बढ़ गई हैं। इन घटनाओं पर विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से सख्त कदम न लेने की वजह से मारपीट करने वालों का दुस्साहस बढ़ रहा है। शुक्रवार को छात्र प्रदीप फोगाट ने श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में एक शिक्षक के साथ मारपीट की। छात्र का कहना है कि उसके एबीवीपी और लॉ फैकल्टी से होने की वजह से उसके प्रति शिक्षक का नजरिया पहले से ही गलत था। पुलिस ने आरोपी छात्र को जमानत दे दी है। श्रीराम कॉलेज ऑफ कामर्स के प्राचार्य आर.पी रुस्तागी का कहना है कि आरोपी छात्र कक्षाओं में उपस्थित रहता है इसलिए सभी अध्यापकों ने उसे इंटरनल परीक्षा में जीरो नंबर दिए हैं। उन्होंने कहा कि छात्र ने सोचा होगा कि वह अपने अध्यापकों को धमका कर अपने अंक बढ़ावा लेगा। उन्होंने बताया कि छात्र ने पहले भी उस शिक्षक को धमकियां दी थीं। प्राचार्य का कहना है कि विश्वविद्यालय को इन मामलों पर सख्ती दिखानी चाहिए। डीयू में शिक्षकों से मारपीट और बदतमीजी के हालिया मामले 14 जुलाई 2017 को श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स के शिक्षक अश्वनि कुमार के साथ मारपीट की गई। एक छात्र पर शिक्षक को पार्किंग में लात और थप्पड़ से मारने का आरोप लगा। 14 जुलाई को छात्र कल्याण विभाग के डीन कार्यालय के बाहर रखे गमले लात मारकर तोड़ दिए गए। 13 जुलाई 2017 को दाखिला समिति के अध्यक्ष प्रोफेसर महाराज के पंडित के साथ एबीवीपी के छात्र नेता और पूर्व डूसू अध्यक्ष सतेंद्र अवाना ने बदतमीजी की। मामले की शिकायत कुलपति और रजिस्ट्रार से की गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। फरवरी 2017 में लॉ फैकल्टी की डीन वेद कुमारी से पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में बदतमीजी का आरोप लगा। फरवरी 2017 में रामजस कॉलेज के शिक्षक प्रशांता चक्रवृत्ति को पीटा गया। शिक्षक बुरी तरह घायल हो गए। 13 जून 2016 को श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स के शारीरिक विज्ञान के शिक्षक पर स्वीमिंग पूल का शुल्क मांगने पर लात-घूंसों से हमला हुआ। आरोप एबीवीपी के सतेंद्र अवाना पर लगा। अप्रैल 2014 में दिल्ली विश्वविद्यालय में साउथ कैंपस के निदेशक प्रोफेसर उमेश राय पर कालिख पोतने का मामला सामने आया। आरोप डूसू के पूर्व संयुक्त सचिव राजू रावत पर लगा। जून 2014 में 4 साल के एफवाईयूपी पाठ्यक्रम के बारे चर्चा करने के दौरान असिस्टेंट प्रोफेसर सुरेंद्र कुमार पर छात्रों ने हमला किया गया। एफआईआर में छात्र नेता विशाल चौधरी, रोहित चहल और राजू रावत को आरोपी बनाया गया है। बॉक्स हाइकोर्ट की टिप्पणी लफंगों के लिए नहीं है डीयू दिल्ली हाईकोर्ट ने 11 जुलाई को विश्वविद्यालय में शिक्षकों के साथ बढ़ रही हिंसा की घटनाओं पर सख्त टिप्पणी की थी। अदालत ने कहा था कि दिल्ली विश्वविद्यालय में लफंगों के लिए पनाहगाह नहीं है, बल्कि खुली सोच वाले लोगों के लिए है, जो पढ़ाई करना चाहते हैं। यह टिप्पणी हाईकोर्ट ने विश्वविद्यालय में लॉ फैकल्टी डीन व अध्यापकों के साथ मई 2016 में मारपीट व बदसलूकी के मामले में कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए की। अदालत ने मामले में डीयू की फैक्ट फाइंडिंग कमेटी की रिपोर्ट का इंतजार करने के लिए कड़ी फटकार लगाई है। हालांकि कोर्ट की सख्त टिप्पणी के बाद भी विश्वविद्यालय में मारपीट और तोड़-फोड़ की घटनाओं के मामले सामने आए हैं। कोट दिल्ली विश्वविद्यालय में शिक्षकों के साथ मारपीट और बदसलूकी आम बात हो गई है। कुछ छात्र गुंडों की तरह व्यवहार करते हैं। अध्यापकों को डरा-धमका कर अपना काम कराना चाहते हैं। विश्वविद्यालय प्रशासन और पुलिस को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। संजय बोहिदार, प्रोफेसर, श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स फरवरी में मुझसे भी मारपीट की गई। मैं बुरी तरह घायल हो गया था। कुछ छात्र गुंडागर्दी कर विश्वविद्यालय में भय का माहौल बनाना चाहते हैं। -प्रशांता चक्रवर्ती, रामजस कॉलेज विश्वविद्यालय में शिक्षकों से मारपीट होगी तो कैसे काम होगा। विश्वविद्यालय प्रशासन को सख्त कदम उठाने चाहिए ताकि ऐसी घटनाएं न हों। नंदिता नारायण, अध्यक्ष डूटा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:delhi university teachers abvp scuffle
विधानसभा में नारेबाजी व पर्चा फेंकने का मामला: पिटाई करने वाले विधायकों के नाम बताने का निर्देशघिटरोनी हादसे को कर्मचारियों को मिलेगा मुआवजा