class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घिटरोनी हादसे को कर्मचारियों को मिलेगा मुआवजा

नई दिल्ली, प्रमुख संवाददाता सेफ्टी टैंक की सफाई करते हुए कर्मचारियों की मौत के बाद अब पीडि़त परिवारों को मुआवजा जारी किया जाएगा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष व सांसद मनोज तिवारी ने इसकी घोषण की। वे देर रात भारत सरकार के एस.सी/एस.टी. कमीशन के चेयरमैन सासंद आर.एस. कथेरिया एवं अखिल भारतीय सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष के साथर परिवार के लोगों से मिलने के लिए पहुंचे। इस मौके पर एसडीएम, पुलिस सहायक आयुक्त व के अलावा दिल्ली दक्षिण नगर निगम के क्षेत्रीय उपायुक्त भी उपस्थित थे। मृतकों के परिजनों से संवेदना मुलाकात के दौरान सफाई आयोग के अध्यक्ष ने घोषणा की कि चारों मृतकों के परिवारों को केन्द्र सरकार की नीतियों के अनुरूप नकद एवं अन्य मुआवजा दिया जायेगा। यह मुआवजा 10 लाख रूपये प्रति परिवार तक हो सकता है। भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा है कि अनधिकृत कालोनियो में सैप्टिक टैंक की सफाई एक बड़ी समस्या है। दो वर्ष से अधिक पूर्व केन्द्र सरकार द्वारा स्वीकृति दिये जाने के बाद भी दिल्ली सरकार ने इन कालोनियों को नियमित करने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया। अब तक इन क्षेत्रों में सीवर व्यवस्था लागू हो जाती। उन्होंने कहा कि वे जल्द इस मामले में उपराज्यपाल अनिल बैजल से बात करेंगे।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:delhi govt fail tom given sewer services
एसआरसीसी शिक्षक से मारपीट मामला : शिक्षक बोले डीयू में डर का माहौलजामिया की आवासीय कोचिंग अकादमी में आवेदन आठ तक