class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेट्रो किराया मामले पर सीएम और मुख्य सचिव आमने-सामने

Delhi metro fare

 

मेट्रो किराया वृद्धि मामले पर मुख्य सचिव ने जांच से इंकार कर दिया है। सीएम ने मुख्य सचिव को इस मामले में जांच के निर्देश दिए थे। शुक्रवार को पहले मुख्य सचिव ने फाइल पर जांच से मना किया तो सीएम ने समन जारी कर उन्हें आवास पर बुलाया। मुख्यमंत्री ने सीएम के सामने जांच से इंकार कर दिया है। किराया वृद्धि मामले की जांच को लेकर सीएम और मुख्य सचिव अब आमने-सामने आ गए हैं।

मेट्रो किराया मामले को लेकर विवाद लगातार बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री ने बुधवार को मुख्य सचिव को जांच के लिए निर्देश दिए थे। उन्हें मेट्रो किराया वृद्धि मामले में सभी पहलुओं पर जांच के लिए कहा गया। शुक्रवार दोपहर को मुख्य सचिव ने फाइल पर जांच से इंकार कर दिया। इसके बाद सीएम ने उन्हें समन जारी कर आवास पर बुलाया, तो मुख्य सचिव ने किराया वृद्धि मामले की जांच से इंकार कर दिया है।

मुख्य सचिव मामले की जांच नहीं कर रहे

सरकार का आरोप है कि मुख्य सचिव बीजेपी नेतृत्व वाले केंद्र को समर्थन कर रहे हैं। दिल्ली सरकार मेट्रो किराए में वृद्धि का विरोध कर रही है। वह इस फैसले को आम जनता के खिलाफ मानती है और उसी के चलते जांच कराना चाहती है, लेकिन मुख्य सचिव मामले की जांच नहीं कर रहे। सरकारी सूत्रों का कहना है कि इससे साफ है कि नौकरशाही को भाजपा और केंद्र का समर्थन है। सरकार का मानना है कि नौकरशाहों को डीएमआरसी बोर्ड की बैठक में भी चुनी हुई सरकार को रुख सही नहीं रखा होगा। मेट्रो में किराया वृद्धि हो गई और इससे आम दिल्लीवासी को झटका लगा है। मेट्रो किराया वृद्धि को लेकर यह तल्खी आने वाले दिनों में और बढ़ सकती है। इस मामले में सीएम केजरीवाल और शहरी विकास मंत्री के बीच पत्र युद्ध छिड़ा हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CM and Chief Secretary face-to-face on Metro fare
हर दिन एक सवाल उठाकर ऑनलाइन कैंपेन चलाया थायूपी जाते हुए दिखी मुख्यमंत्री की चोरी हुई कार