class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्व अंगदान दिवस: कोई भी कर सकता है अंगदान, पढ़ें ये 4 भ्रांतियां

अंगदान की 4 भ्रांतियां

1/2 अंगदान की 4 भ्रांतियां

अंगदान को महादान कहा गया है। कोई भी इंसान दुनिया से जाने के वक्त कई लोगों को जिंदगी दे सकता है। लेकिन इस महादान को लेकर कई मिथ भी जुड़ें हैं जिन्हें दूर करना जरूरी है। विश्व अंगदान दिवस के मौके पर आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अंगदान को लेकर लोगों के मन में क्या भ्रांतियां होती हैं और सच्चाई क्या है?

मिथ-1 : किसी भी बीमारी से पीडि़त व्यक्ति अंगदान नहीं कर सकता!
यह बिल्कुल गलत है। जबकि सच्चाई यह है कि कुछ बीमारियां ही ऐसी होती हैं जिनमें आप अंगदान नहीं कर सकते। आप कुछ चिकित्सीय शर्तों व मानदंडों को पूरा करते हैं तो अंगदान कर सकते हैं। कई बार किसी बीमारी से कुछ अंग प्रभावित हो जाते हैं ऐसे में उन प्रभावित अंगों को दान नहीं किया जा सकता बल्कि दूसरे अंगों का दान किया जा सकता है।

मिथ-2 : सिर्फ परिवार के लोगों को ही किया जाता है अंगदान!
यह एक मिथ है। जबकि सच यह है कि कोई भी किसी को भी अंगदान कर सकता है। लेकिन लिविंग डोनर होने पर कोशिश की जाती है कि अंगदान करने वाला कोई निकट संबंधी ही हो। लेकिन आप किसी दूसरे को किडनी या कोई अंग दान करना चाहते हैं जो आपकी जांच पड़ताल के बाद अंगदान की अनुमति दी जा सकती है।

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:world organ donation day know 4 myths and realty about organ donations
अजब-गजब: इंजन में टपक रहा था पानी तो छाता लेकर ड्राइवर ने चलाई ट्रेनजम्मू-कश्मीरः शोपियां में आतंकियों ने तीनों आतंकियों को मार गिराया, दो जवान भी शहीद