class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लद्दाख झड़प: भारत-चीन फ्लैग मीटिंग आज, बीजिंग बोला- घटना की जानकारी नहीं

India China

चीन ने कहा है कि उसे लद्दाख में पेंगोंग झील के किनारे भारतीय क्षेत्र में पीएलए के जवानों के घुसने संबंधी रिपोर्ट्स की कोई जानकारी नहीं है और वह सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। वहीं  आज दोनों देशों के सैन्य अधिकारियों के बीच चुसूल में बैठक भी होने वाली है। ये बैठक ब्रिगेडियर लेवल की है। 

भारतीय सीमा के रक्षकों ने लद्दाख में भारतीय क्षेत्र में घुसने की चीनी सैनिकों की कोशिश को मंगलवार को नाकाम कर दिया था जिसके बाद पथराव हुआ और उसमें दोनों तरफ के लोगों को मामूली चोटें आईं।

चीन की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हु चुनयिंग से जब इस घटना के संबंध में टिप्पणी करने को कहा गया तो उन्होंने कहा,  मुझे इसकी जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवान वास्तविक नियंत्रण रेखा के चीनी हिस्से के पास हमेशा गश्त करते हैं।

डोकलाम सीमा विवाद:भारत ने कहा, सीमाओं की सुरक्षा के लिए पूरी तरह तैयार

उन्होंने कहा, 'चीन भारत-चीन सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है।'

हु ने कहा,  'हम भारतीय पक्ष से अपील करते हैं कि वह एलएसी और दोनों पक्षों के बीच प्रासंगिक संधियों का पालन करे।' 

ड्रैगन का ड्रामाःडोकलाम पर समझौता नहीं करेगी चीन सरकार व सेनाःएक्सपर्ट

लद्दाख में यह टकराव ऐसे समय में हुआ है जब भारत एवं चीन के बीच पिछले 50 से अधिक दिनों से सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में गतिरोध बना हुआ है। यह गतिरोध उस समय आरंभ हुआ था जब भारतीय सेना ने चीनी सेना को क्षेत्र में सड़क का निर्माण करने से रोका था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Unaware of reports of PLA soldiers entering Ladakh’s Pangong lake: China
टॉप 10 न्यूजः चीनी कंपनियों से केन्द्र सरकार ने पूछा- मोबाइल का डाटा कैसे रखते है सेफ, वीडियो में देखें अब तक की देश-दुनिया की बड़ी खबरेंमहाराष्ट्र सरकार को बैलगाड़ी दौड़ की नहीं मिली इजाजत, बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा- पहले नियम बनाओ