class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कानून बदला: अब नाबालिग पत्नी से संबंध बनाने पर उम्रकैद तक की सजा

Child brides

नाबालिग पत्नी के साथ शारीरिक संबंध बनाने को अपराध की श्रेणी में लाने के उच्चतम न्यायालय के एक फैसले के बाद दोषी को भारतीय दंड संहिता के तहत 10 साल कैद की सजा सुनाई जा सकती है या पॉक्सो कानून के तहत उम्रकैद तक की सजा सुनाई जा सकती है।

आईपीसी की धारा 375 (बलात्कार की परिभाषा) के अपवाद दो को संशोधित करने के शीर्ष अदालत के ऐतिहासिक फैसले के बाद अब ऐसे पुरुषों पर मुकदमा चलेगा और कड़ी सजा दी जा सकती है। पहले पति को 15 से 18 साल की पत्नी के साथ शारीरिक संबंध बनाने पर बलात्कार का मुकदमा चलने से छूट प्राप्त थी।

अदालत ने दो दंडनीय कानूनों में असमानताओं को रेखांकित करते हुए कहा था कि आईपीसी की धारा 375 के अपवाद दो के तहत 15 से 18 साल की उम्र की पत्नी के साथ पुरुष द्वारा शारीरिक संबंध बनाना बलात्कार नहीं है लेकिन उसी समय पॉक्सो कानून की धारा छह के तहत यह दंडनीय अपराध है।

न्यायमूर्ति मदन बी. लोकुर की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि पॉक्सो कानून की धारा 42ए के तहत यदि आईपीसी और पॉक्सो के बीच कोई विसंगति है तो बाद वाला प्रावधान लागू होगा। पीठ ने कहा, आईपीसी की धारा 375 का अपवाद दो पॉक्सो के किसी प्रावधान में नहीं मिला जिसमें कहा गया है कि यदि पत्नी की उम्र 15 साल से कम नहीं है तो पुरुष द्वारा उसके साथ शारीरिक संबंध या आम सहमति से सेक्स संबंध बनाना अपराध नहीं है। उन्होंने कहा, इसलिए यह पॉक्सो और आईपीसी की प्रमुख विसंगति है।

ये भी पढ़ें

सुप्रीम फैसला: नाबालिग से संबंध पर SC ने क्या कहा, जानिए 10 बातें

स्वागतः SC के फैसले से नाबालिग लड़कियों के विवाह पर लगेगी रोक

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: relationship With Wife Below 18 Can Be Punished With Life Imprisonment: Supreme Court
टॉप 10 न्यूज:अब नाबालिग पत्नी से संबंध बनाने पर उम्रकैद तक की सजा, पढ़ें देश-दुनिया की 9 बजे तक की कुछ खास खबरेंराज्यसभा चुनाव: आयोग ने हाई कोर्ट में कहा अहमद पटेल का चुनाव सही