class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

GST के नए नियम: जानिए कौन सी चीजें होंगी सस्ती और कौन सी महंगी

जीएसटी दरें तयः सफर सस्ता, रेस्तरां में खाना, बैंकिंग-बीमा होंगे महंगे

1/2जीएसटी दरें तयः सफर सस्ता, रेस्तरां में खाना, बैंकिंग-बीमा होंगे महंगे

शिक्षा व स्वास्थ्य पर नई कर प्रणाली जीएसटी में भी कोई कर नहीं लगेगा जबकि सेवाओं पर चार अलग अलग दरों से जीएसटी लगाने का फैसला किया गया है। जीएसटी परिषद ने वस्तु व सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली के तहत सेवाओं के लिए दरों को शुक्रवार को अंतिम रूप दिया। इसके तहत एकोनामी क्लास में हवाई यात्रा सहित परिवहन पर पांच प्रतिशत जीएसटी लगेगा। 

परिषद ने दूरसंचार, बीमा, होटल व रेस्टोरेंट सहित विभिन्न सेवाओं के लिए चार दर स्लैब 5,12,18 व 28 प्रतिशत में कर लगाने का फैसला किया है। यह दरें भी वस्तुओं के लिए तय की गई दरों के अनुसार ही हैं। इसके साथ ही सोने सहित कुछ ही जिंस को छोड़कर सभी वस्तुओं के लिए जीएसटी दरों को तय कर लिया गया है। सरकार जीएसटी का कायार्न्वयन एक जुलाई से करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। परिषद की दो दिवसीय बैठक के बाद वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा कि दूरसंचार व वित्तीय सेवाओं पर 18 प्रतिशत की मानक दर से कर लगेगा।

परिवहन सेवाओं पर पांच प्रतिशत कर लगेगा। यह दर ओला व उबर जैसी एप से टैक्सी बुकिंग सेवा देने वाली कंपनियों पर भी लागू होगी। इसके साथ ही फिलहाल छह प्रतिशत कर देने वालों पर यह लागू होगी।

जहां तक रेल यात्रा का सवाल है तो सामान्य श्रेणी या गैर वातानुकूलित रेल यात्रा को जीएसटी से छूट दी गई है जबकि वातानुकूलित टिकटों पर पांच प्रतिशत शुल्क लगेगा। राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने कहा कि मेट्रो, लोकल ट्रेन व हज यात्रा सहित तीथार्टन यात्राओं को जीएसटी छूट जारी रहेगी। हवाई यात्रा में इकनोमी श्रेणी पर पांच प्रतिशत जबकि बिजनेस श्रेणी यात्रा पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा। 

जेटली ने कहा कि बिना एसी वाले रेस्टोरेंट में भोजन बिल पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा। मदिरा लाइसेंस वाले एसी (वातानुकूलित) रेस्टोरेंट में कर की दर 18 प्रतिशत रहेगी। वहीं पांच सितारा होटलों में जीएसटी की दर 28 प्रतिशत रहेगी। इसी तरह 50 लाख रुपये या कम कारोबार वाले रेस्टोरेंट पर पांच प्रतिशत की दर से कर लगेगा। वहीं, सफेदी (पुताई) जैसे ठेके पर किए जाने वाले काम पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगेगा।

जीएसटी के तहत मनोरंजन कर को सेवा कर में मिला दिया जाएगा जबकि सिनेमा सेवाओं, घुड़दौड़ में बाजी लगाने या गेंबलिंग पर 28 प्रतिशत कर लगेगा। सिनेमा हॉल के लिए प्रस्तावित कर दरें मौजूदा दरों की तुलना में 40 से 55 प्रतिशत तक कम है। इससे जहां सिनेमा टिकटें सस्ती हो सकती हैं और उन पर शुल्क लगाने का अधिकार राज्यों के पास ही रहेगा।

प्रति दिन 1000 रपये का शुल्क लगाने वाले होटल व लॉज को जीएसटी में छूट रहेगी। वहीं 1000 से 2000 रुपये प्रति दिन शुल्क वाले होटल के लिए शुल्क दर 12 प्रतिशत रहेगी। इसी तरह 2500 से 5000 रुपये प्रति दिन शुल्क वाले होटल के लिए शुल्क दर 18 प्रतिशत रहेगी। इसी तरह 5000 रुपये से अधिक प्रतिदिन शुल्क वाले होटल के लिए शुल्क दर 28 प्रतिशत होगी।

जीएसटी दरें 
हवाई सफर
इकोनॉमी क्लास फेयर - 5 फीसदी
बिजनेस क्लास फेयर - 12 फीसदी
टेलीकॉम, वित्त सेवाएं - 18 प्रतिशत

मनोरंजन
रेस क्लब, बाजी लगाना और सिनेमा हॉल्स - 28 फीसदी

होटल
एसी रेस्टोरेंट और ऐसे रेस्टोरेंट जिनमें शराब पिलाने का लाइसेंस- 18 फीसदी
पांच सितारा होटल- 28 फीसदी
50 लाख या इसे कम का टर्न ओवर वाले रेस्टोरेंट - 5 फीसदी
बिना एसी वाले रेस्टोरेंट- 12 फीसदी

स्वास्थ्य और शिक्षा
हेल्थकेयर, शिक्षा को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है।

ट्रांसपोर्ट 
ट्रांसपोर्ट सेवाएं- 5 फीसदी

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:new rules of gst makes milk and foodgrains cheaper
सेक्स रैकेट : लड़कियों को जॉब ऑफर कर कराते थे जिस्मफरोशी का धंधा, 9 अरेस्टटॉप 10 न्यूजः पढ़ें अब तक की देश-दुनिया की बड़ी खबरें एक नजर में