class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शोपियां एनकाउंटर: सिर्फ 25 वर्ष की उम्र में ही शहीद हो गए सिपाही वामन और इलियाराजा

martyrs of Shopian

रविवार को जम्मू कश्मीर के शोपियां में एक बार फिर आतंकियों और सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हुई और इस मुठभेड़ में सेना ने अपने दो बहादुर जवानों को गंवा दिया। इन बहादुर जवानों को श्रीनगर के बादामी बैग कैंट में लेफ्टिनेंट जनरल जेएस संधू, चिनार कोर के कमांडर और सभी रैंक्स की ओर श्रद्धांजलि दी गई।

गृहनगर रवाना हुए शव 
राज्य सरकार के अधिकारियों, सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों और राज्य सरकार के प्रतिनिधियों की ओर से भी इन बहादुरों को श्रद्धांजलि दी गई। शोपियां में जो दो जवान शहीद हुए हैं उनके नाम सिपाही गावई सुमेध वामन और सिपाही इलियाराजी पी हैं। दोनों की उम्र 25 वर्ष थी। सिपाही वामन वर्ष 2011 में सेना में शामिल हुए थे। महाराष्ट्र के अकोला गांव के रहने वाले सिपाही वामन के घर में उनके माता-पिता के अलावा एक भाई और एक बहन है। वहीं सिपाही इलियाराजा तमिलनाडु के शिवागंगी जिले के कनडानी गांव के रहने वाले थे। वर्ष 2012 में वह सेना का हिस्सा बने। उनके घर में उनके माता-पिता के अलावा उनकी पत्नी और एक बहन है। दोनों जवानों को श्रद्धांजलि देने के बाद इनके शवों को गृहनगर के लिए रवाना कर दिया गया। यहां पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ इनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। 

तीनों आतंकी भी हुए ढेर 
जम्मू कश्मीर के शोपियां में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में सेना ने तीनों आतंकियों को मार गिराया है। जम्मू कश्मीर के शोपियां में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में सेना ने तीनों आतंकियों को मार गिराया है। एक दूसरी घटना के दौरान बांदीपोरा में आतंकियों ने पुलिस सर्च पार्टी पर हमला कर दिया। इस हमले में पुलिस के दो जवान घायल हुए हैं। फिलहाल ऑपरेशन जारी है। इस वर्ष अब तक सेना ने कश्मीर घाटी में करीब 128 आतंकियों को मार गिराया है। पिछले सात वर्षों में आतंकियों के मारे जाने का यह सर्वोच्च आंकड़ा है।  मुठभेड़ में सेना के 2 जवान भी शहीद हो गए हैं। वहीं एक दूसरी घटना के दौरान बांदीपोरा में आतंकियों ने पुलिस सर्च पार्टी पर हमला कर दिया। इस हमले में पुलिस के दो जवान घायल हुए हैं। फिलहाल ऑपरेशन जारी है।


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Indian Army pays tribute to the martyrs of Shopian Jammu Kashmir
स्वतंत्रता दिवसः जानें भारत के तिरंगे का इतिहासहिमाचल में भूस्खलन: 30 लोगोंके मारे जाने की आशंका, बढ़ सकता है आंकड़ा