class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

EC की खुली चुनौती: 3 जून से हैक करके दिखाएं EVM, आप के दावे किए खारिज

Chief Election Commissioner Nasim Zaidi

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी संभव है, इसे साबित करने के लिए चुनौती तीन जून से शुरू होगी। भारत निवार्चन आयोग ने मशीन में किसी प्रकार की छेड़छाड़ की संभावना को खारिज करते हुए शनिवार को यह घोषणा की।

निवार्चन आयोग ने एक सप्ताह पहले ही राजनीतिक दलों को चुनौती दी थी कि वे साबित करें कि हालिया विधानसभा चुनावों में प्रयुक्त ईवीएम में धांधली संभव है। प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए मुख्य निवार्चन आयुक्त नसीम जैदी ने कहा, ईवीएम चुनौती तीन जून से शुरू होगी। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने ईवीएम के भरोसे पर सवाल उठाया है उन्होंने अभी तक अपने दावों के समर्थन में पुख्ता साक्ष्य नहीं दिये हैं।

जैदी ने कहा, ईवीएम के भीतर लगे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट को बदलना संभव नहीं हैं। उन्होंने कहा, हमारे ईवीएम तकनीकी रूप से सुदढ़ हैं और उनमें धांधली संभव नहीं। जैदी ने आम आदमी पार्टी के दावों को खारिज किया कि ईवीएम में धांधली संभव है। उन्होंने कहा मशीन में कोई छेड़छाड़ संभव नहीं है।

उन्होंने कहा कि चुनावी प्रक्रिया को बेहतर बनाना सभी पक्षों की जिम्मेदारी है और निवार्चन आयोग इस संबंध में सभी जरूरी कदम उठा रहा है। कई प्रमुख राजनीतिक दलों का दावा है कि ईवीएम से लोगों का विश्वास उठ गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ECI throws opens the challenge to all national and state political parties from 3 June onward: CEC
बूथों पर कड़ी सुरक्षा, भयमुक्त होकर करें मतदानएनआईए ने तीन हुर्रियत नेताओं को तलब किया