class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दार्जिलिंग में अशांति: सिक्किम के पर्यटन उद्योग में आया अचानक उछाल

 tourism

पर्यटन के लिहाज से सबसे अधिक कमाई वाले इस सीजन में दार्जिलिंग में अशांति का लाभ सिक्किम को मिल रहा है क्योंकि गोरखा जनमुक्ति मोर्चा आंदोलन के कारण पर्यटक दार्जिलिंग के बजाए यहां का रुख कर रहे हैं।

सिक्किम पर्यटन सचिव सी जांगपो ने कहा, दार्जिलिंग में तनाव के कारण यहां पर्यटन उद्योग में अचानक उछाल आ गया है।

दार्जिलिंग में जीजेएम आंदोलन के कारण वहां जाने की योजना बनाने वाले कई रेलू एवं विदेशी पर्यटकों ने अपनी बुकिंग रद्द करा दी हैं और उन्होंने सिक्किम जाने की योजना बनाई है।

जांगपो ने केगंगटोक में पर्यटन संबंधी प्रतिष्ठानों में इस समय बहुत से ग्राहक हैं और आगामी कई दिनों के लिए वहां बुकिंग पूरी हो चुकी हैं।

सिक्किम पर्यटन सचिव ने कहा कि सिक्किम घूमने आए लगभग सभी पर्यटक या तो यात्रा के अपने दूसरे चरण में दार्जिलिंग जाने वाले थे या यहां आने से पहले वे दार्जिलिंग गए थे। 

ट्रैवल ऑपरेटरों को इस बात की चिंता है कि इतनी अधिक संख्या में पर्यटकों का प्रबंध करना मुश्किल है और सचिव ने भी इस प्रकार की चिंता व्यक्त की।

जांगपो ने कहा कि हमने ट्रैवल ऑपरेटरों और होटलों से सेवा मानकों से समझौता किए बिना अधिक से अधिक संख्या में पर्यटकों को सेवाएं देने को कहा है क्योंकि इस संबंध किसी भी प्रकार के कुप्रबंधन से पर्यटक उद्योग की बदनामी हो सकती है।

कोलकाता के एक पर्यटक शांतनु बोस ने कहा, हम छुटिृटयां मनाने दार्जिलिंग गए थे लेकिन तभी आंदोलन हो गया। हमारे ट्रैवल एजेंट ने सिक्किम में ऑपरेटरों से तत्काल संपर्क किया और हम भाग्यशाली रहे कि हमें बुकिंग मिल गई।

बोस ने यहां बताया कि कई पर्यटकों को बुकिंग नहीं मिल पाने के कारण दार्जिलिंग से ही लौटना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Darjeeling unrest, a boon for Sikkim tourism