class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुजरात में BJP की डूबती नाव को चुनाव आयोग के तिनके का सहारा:कांग्रेस

Abhishek Manu Singhvi

गुजरात विधानसभा चुनाव की घोषणा हिमाचल प्रदेश के साथ नहीं करने के चुनाव आयोग के कदम को लेकर कांग्रेस ने सत्तारूढ़ भाजपा पर बरसते हुए आरोप लगाया कि वह निवार्चन आयोग के कामकाज को प्रभावित करने का प्रयास कर रही है। कांग्रेस ने कहा कि गुजरात में भाजपा की डूबती नाव को चुनाव आयोग के तिनके का सहारा लेना पड़ रहा है। कांग्रेस ने यह भी कहा कि वह चुनाव आयोग द्वारा हिमाचल प्रदेश एवं गुजरात के चुनाव एकसाथ नहीं करवाने के फैसले के विरोध में अपना प्रतिनिधिमंडल भेजकर उसके समक्ष विरोध जताने, अदालत में इस फैसले को चुनौती देने सहित विभिन्न विकल्पों पर विचार करेगी। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने संवाददातओं से कहा, 'भाजपा समय की सही कसौटी पर खरी उतरी परंपरा (दोनों राज्यों के चुनाव साथ में कराने) को तोड़ने की सबसे बड़ी दोषी है।

इस बदलाव के लिए हताश एवं बौरायी हुई भाजपा द्वारा अंतिम समय में यह प्रयास इसलिए किया गया ताकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 16 अक्तूबर को गुजरात में सांता क्लाज की तरह विभिन्न घोषणाएं कर सकें। उन्होंने कहा कि 2002-03 को यदि छोड़ दें तो 1998 से दोनों राज्यों में एक साथ ही चुनाव करवाए गए थे। उन्होंने कहा कि 2002-03 में गुजरात दंगों के कारण साथ में चुनाव नहीं हुए।'  सिंघवी ने कहा कि चुनाव आयोग ने कानून मंत्रालय के अप्रैल 2001 के एक कायार्लय परिपत्र का उल्लेख किया है। इसके अनुसार चुनाव आयोग को राज्य में 46 दिनों के भीतर चुनाव करवाना चाहिए। किन्तु इस नियम को पूर्व में कई बार तोड़ा गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Congress Accuses BJP for misusing Election Commission of India over dates row in Gujarat Assembly Election
जम्मू-कश्मीरः पुलिस ने किया हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकवादी गिरफ्तारजम्मू-कश्मीर: श्रीनगर में चोटी कटने पर हंगामा, रेल सेवा बाधित