class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नया खुलासा: राम रहीम के साथ फिल्म देखना चाहते हैं तो दें 50 हजार रुपए

Gurmeet Ram Rahim

पिछले 25 अगस्त को डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दुष्कर्म के दो मामलों में दोषी ठहराए जाने पर हरियाणा में हिंसा के बाद लगा सिरसा में कर्फ्यू हटने लगा है। उधर, डेरा प्रमुख द्वारा अनुयायियों को छलने के रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं।

सिरसा के डीसी प्रभजोत सिंह ने बताया कि बुधवार सुबह तक कर्फ्यू हटा दिया जाएगा। सोमवार को डेरा सच्चा सौदा तथा उसके साथ लगते गांव नेजिया, बाजेंका और बेगू ढील देने का निर्णय लिया गया था। इसके बाद डेरा के साथ लगते नेजिया, बाजेंका, अली मोहम्मद, बेगू और रंगड़ी गावों से पूरी तरह से कर्फ्यू हटाने का ऐलान किया गया। 

राम रहीम: लड़कियों को ऐसे डेरा की गुफा में भेजती थी विषकन्याएं

उधर, नए-नए खुलासे के क्रम में सामने आया है कि राम रहीम अपने साथ फिल्म देखनेवालों से भारी रकम वसूलता था। वह उनसे डेरे की फैक्टरियों में मुफ्त कार्य लेता था। यहां तक की डेरा परिसर में भवन निर्माण में भी उसके अंधभक्त बिना दिहाड़ी के काम करते थे। गुरमीत राम रहीम डेरा प्रेमियों से मोटी रकम वसूलने का कोई मौका नहीं छोड़ता था। मरने के बाद भी उनके शवों को भी वह कमाई का जरिया बना रखा था। 

गुरमीत फिल्मी दुनिया में कदम रखने के बाद हर तरीके से पैसा कमाता रहा। थियेटर में डेरा प्रमुख के आसपास वाली सीटों की कीमत तो 50 हजार रुपये तक होती थी। जिस दिन डेरा प्रमुख थियेटर में आता था, उस दिन उसके परिवार के अलावा उन लोगों को ही फिल्म देखने का मौका मिलता था, जो महंगे दामों में टिकट खरीद सकें। 

गौरतलब है कि डेरा प्रमुख ने 2015 में फिल्मी दुनिया में कदम रखा और अब तक उसकी पांच फिल्में रिलीज हुई है। डेरा प्रमुख की फिल्म रिलीज होने से लेकर उसकी कमाई के बाद पार्टियों का दौर चलता था। पहले रिलीज पार्टी होती थी, जिसमें डेरा प्रमुख व उनके परिवार के सदस्य चुनिंदा लोगों के साथ फिल्म रिलीज होने का जश्न मनाते।

उसके बाद कभी 100 करोड़ तो कभी 200 करोड़ की कमाई होने का दावा करके सक्सेस पार्टी का आयोजन होता। सक्सेस पार्टी में भी खास लोगों को बुलाया जाता था। डेरा प्रमुख की फिल्म के रिलीज के दिन भी साध संगत को खर्चा करना पड़ता था। पहले तो रिलीज के नाम पर अलग-अलग शहर में कार्यक्रम होते थे और साध संगत ढोल-नगाड़ों के साथ शहर व गांवों में रैलियां निकालती। उसके बाद लोगों को फिल्में दिखाने के लिए कई बार अपनी जेब से टिकटों के पैसे देने पड़ते। रिलीज पर होने वाले खर्च की व्यवस्था साध-संगत को अपने स्तर पर करनी पड़ती थी।

आदित्य,पवन की गिरफ्तारी के लिए दबिश

हिंसा मामले में जिम्मेवार माने जा रहे डेरे के दो प्रवक्ता- आदित्य और पवन सहित चार अन्य लोगों की धरपकड़ के लिए पंचकूला पुलिस ने मंगलवार को यहां दबिश दी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार डेरा प्रमुख की पेशी के दौरान इन लोगों ने पंचकूला में उत्पात मचाया और डेरा अनुयायियों को हिंसा के लिए प्रेरित किया। इस दौरान इन दोनों के साथ डेरा के एक स्कूल के प्राचार्य दिलावर,जसवीर सिंह, गोभी राम और महेंद्र भी थे। हिंसा को लेकर पंचकूला के सेक्टर 14 स्थित थाने में पत्रकार संजीव महाजन की शिकायत पर इन लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 121 सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस को आशंका है कि ये लोग सिरसा में छिपे हुए हैं। इसीलिए यहां दबिश दी गई। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:big reveal if you want see film msg with ram rahim need to pay 50 thousand rs
अद्भुत: 5 साल की शिवानी करती है तीरंदाजी, ये रिकॉर्ड कराया अपने नामराम रहीम: लड़कियों को ऐसे डेरा की गुफा में भेजती थी विषकन्याएं