class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हद है: रेलवे की बड़ी चूक, निरस्त ट्रेन को बिना सूचना चला दिया

indian railway

एक के बाद एक रेल हादसों के बाद भी रेलवे नहीं चेत रहा है। बुधवार को विभाग की लापरवाही की पोल उस समय खुली, जब 19 अक्तूबर तक निरस्त की गई झांसी-लखनऊ पैसेंजर रोज की तरह ट्रैक पर दौड़ा दी गई। ट्रेन सेंट्रल स्टेशन पहुंची तो अफसरों को सुध आई। वे अचंभे में पड़ गए। शीर्ष अफसरों से बात करने के बाद ट्रेन को आनन-फानन में झांसी वापस भेजा गया। रेलवे ने इस चूक पर जांच के आदेश दिए हैं। जोन के अधिकारी तालमेल न होने का बहाना बना रहे हैं।

रेलवे मुख्यालय ने एक दिन पहले ही सूचना सार्वजनिक की थी कि झांसी-लखनऊ पैसेंजर (51813-51814) 13 सितम्बर से 19 अक्तूबर तक रद रहेगी। इसकी जानकारी झांसी मंडल को दी गई थी। इसके बावजूद ट्रेन को बुधवार को तय समय पर झांसी से चला दिया गया। रास्ते भर में पड़ने वाले ठहराव वाले स्टेशनों ने भी निरस्त ट्रेन चलने पर कोई कदम नहीं उठाया। कानपुर में ट्रेन के आने पर परिचालन स्टाफ ने इसके बारे में पता किया तो पता चला कि ट्रेन तो निरस्त है।

इस कारण कानपुर आ चुकी पैसेंजर को डाउन में भी चलाने का फरमान जारी किया गया। इसके बाद शाम को ट्रेन कानपुर से झांसी को पैसेंजर बनकर वापस भेजी गई। रेलवे अफसर पता लगाने में जुटे हैं कि आखिरकार चूक किस स्तर से हुई। झांसी के पीआरओ मनोज कुमार सिंह ने बताया कि यह ट्रेन निरस्त नहीं बल्कि 13 सितंबर को शॉर्ट टर्मिनेट थी, पर वह इसका कोई ठोस प्रमाण नहीं बता पाए।

हादसा टला: मुरादाबाद यार्ड में पटरी धंसी, VIDEO

तालमेल न होने से हुई चूक

उत्तर मध्य रेलवे के सीपीआरओ जीके बंसल ने बताया कि 13 सितम्बर से 19 अक्तूबर तक झांसी-लखनऊ पैंसेजर को रद करने का फैसला किया गया था। इसकी सूचना भी झांसी मंडल को दे दी गई थी। साथ ही इसे सार्वजनिक किया गया  था। परिचालन और प्रशासन अनुभाग के बीच समन्वय की कमी की बात की जाए या फिर फिर लापरवाही। इसका तो जांच में ही खुलासा होगा। यह सही ही है कि निरस्त ट्रेन को चलाया गया।

पतरातू रेलवे साइडिंग में मालगाड़ी का इंजन हुआ डिरेल

आज से 19 अक्तूबर तक नहीं चलेगी

एनसीआर के सीपीआरओ ने बताया कि बुधवार को चूक हो गई है पर पूर्व में जारी आदेश गुरुवार से प्रभावी होगा। अब यह ट्रेन 14 सितंबर से 19 अक्तूबर तक नहीं चलेगी। यह फैसला अनुरक्षण कार्य की वजह से लिया गया है। 

हादसा टला : दिल्ली में काशी विश्वनाथ का इंजन पटरी से उतरा, VIDEO

एनाउंसमेंट करके उतरवाए यात्री, मेमू से भेजे गए

कानपुर सेंट्रल पर जैसे ही झांसी पैसेंजर आई तो इसमें लखनऊ जा रहे यात्रियों को एनाउंसमेंट करके उतरवाया गया। इसके बाद आरपीएफ ने उतरे यात्रियों को दोपहर साढ़े बारह बजे लखनऊ जाने वाली मेमू से भिजवाने की व्यवस्था की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:big mistake of Indian Railway: rail run canceled without any notice
पेट्रोल-डीजल के दाम:धर्मेंद्र प्रधान ने खड़े किए हाथ, कहा-GST ही भरोसाटॉप 10 न्यूज: देश और दुनिया की बड़ी खबरें पढ़ें एक नजर में