class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

त्रिपुरा और हिमाचल के सारे गांव हो चुके हैं रोशन, यूपी के 6 गांव अभी भी बाकी

Power

त्रिपुरा और हिमाचल प्रदेश देश को वो राज्य हैं जहां के हर एक गांव तक बिजली पहुंच गई है। यानी इन दोनों राज्यों में अब एक भी गांव ऐसा नहीं है, जो बिजली से रोशन न हो। वहीं दूसरी ओर अरुणाचल प्रदेश ऐसा प्रदेश है जहां अभी भी 1224 गांवों तक बिजली नहीं पहुंची है।

इतना ही नहीं देश की सबसे ज्यादा आबादी वाला राज्य उत्तर प्रदेश में अब सिर्फ 6 गांव ही ऐसे बचे हैं जहां अभी तक बिजली नहीं पहुंची है। जबकि कुछ समय पहले तक ये संख्या 1500 से भी ज्यादा थी। प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो ने एक ट्वीट में केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल द्वारा जारी की गई एक बुकलेट के हवाले से देश में 18 मई, 2017 तक गांवों के विद्युतीकरण प्रोजेक्ट की स्टेटस रिपोर्ट दी है। इस रिपोर्ट के अनुसार देश में 100% विद्युतीकृत त्रिपुरा व हिमाचल प्रदेश हैं। वहीं उत्तर प्रदेश सहित कुल चार राज्य ऐसे हैं, जिनमें 10 से कम गांवों में बिजली पहुंचाए जाने का काम बचा हुआ है। राजस्थान में सिर्फ एक गांव में बिजली की रोशनी पहुंचाना बाकी है, जबकि नागालैंड में दो गांव ऐसे हैं, और तृणमूल कांग्रेस शासित पश्चिम बंगाल में बिजली-रहित गांवों की तादाद पांच है।

इन राज्यों के अलावा मिज़ोरम में 18, कर्नाटक में 25 मध्य प्रदेश में 52, उत्तराखंड में 53 और मणिपुर में 66 गांवों में बिजली पहुंचाया जाना बाकी है। देशभर में ऐसे राज्यों की संख्या आठ है, जिनमें 100 से ज़्यादा गांवों में विद्युतीकरण का काम बकाया है। इनमें सबसे ज़्यादा गांव अरुणाचल प्रदेश के हैं, जिसके बाद नंबर आता है झारखंड का, जहां 560 गांवों में बिजली पहुंचाई जानी है।

इनके अलावा जम्मू एवं कश्मीर में 102, मेघालय में 224, छत्तीसगढ़ में 316, बिहार में 319, असम में 532 तथा ओडिशा में 534 गांवों में बिजली पहुंचाने का काम बाकी है। भारत में एक समय में ऐसा भी था जब 18,452 गांवों में बिजली नहीं थी, जबकि अब इसकी संख्या घटकर सिर्फ 4,039 रह गई है। जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, इनमें कुल मिलाकर 944 गांव ऐसे भी हैं, जहां आबादी है ही नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:all village of tripura and himachal pradesh got light