Small Hindi Moral Stories for Children, Kid’s for any ages, बाल कथा-कहानी

Mother's Day : मिलिए इन बहादुर बच्चों से, जिन्होंने बचाई अपनी मां की जान

मोइरंगथम सदानंद सिंह, मणिपुर (उम्र 14 साल) 6 मई 2016 को मोइरंगथम ने अपनी सूझ-बूझ से अपनी मां को बिजली का करंट लगने से बचाया। उस दिन लगातार बारिश हो रही थी। उनके घर में लगे इलेक्ट्रिक वॉटर पंप

पत्नी : आप बहुत भोले हैं..

पत्नी : आप बहुत भोले हैं..
पति : क्यों.?
पत्‍नी : क्योंकि आपको कोई भी आसानी से फंसा देता है..
पति : हां इसकी शुरुआत तुम्हारे पापा ने ही की थी..