class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमशेदपुर: माहौल बिगड़ा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, छोड़े आंसू गैस के गोले

Violence

अफवाह में हुई सात हत्याओं को लेकर मानगो और धातकीडीह में हालात बेकाबू हो गए हैं। शनिवार को पथराव और तोड़फोड़ के बाद लाठीचार्ज पुलिस ने लाठीचार्ज किया। भीड़ को हटाने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े।

मानगो में हत्याओं के विरोध में लोग सभा कर रहे थे। अचानक नारेबाजी होने लगी। सभा में जुटे लोग सड़क पर आ गए और पथराव करने लगे। भारी पथराव के बाद पुलिस लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े। पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। उधर धातकीडीह में सड़क जाम कर रहे लोगों को जब पुलिस ने रोका तो दूसरी तरफ से पथराव होने लगा। उग्र लोगों ने टीओपी में तोड़फोड़ की। दोनों जगहों पर रैफ और सीआरपीएफ को भेजा जा रहा है।

आप को बता दें कि गुरुवार को पूर्वी सिंहभूम जिले के नागाडीह गांव और सरायकेला-खरसावां जिले के राजनगर में बच्चा चोरी की अफवाह में सात लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना के बाद शुक्रवार को लोग सड़कों पर उतर आए। लोगों ने सड़क जाम कर दिया और तोड़फोड़ की।

जुगसलाई में सात घंटे तक रोड जामकर लोगों के साथ मारपीट की गई। लोगों ने कई मजदूरों की साइकिलें क्षतिग्रस्त कर आग लगा दी। यही नहीं, मौके पर पहुंची पुलिस की बाइक तोड़ने के बाद आग लगाने की भी कोशिश की। जिन मजदूरों के साथ मारपीट की गई, वे नागाडीह इलाके के निवासी हैं। पुलिस ने स्थिति को संभालने के लिए कई जगहों पर फ्लैग मार्च किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Violence in jamshedpur in child theft rumor case
झारंखड: डुमरी बिहार स्टेशन में नक्सलियों ने लगाई आग, पोस्टर चिपकाएकौन है कुख्यात नक्सली कुंदन पाहन, जानिए उसके बारे में सब कुछ