class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपराध करने वाले सफेदपोशों को चिन्हित करे पुलिस, सरकार नहीं करेगी हस्तक्षेप: सीएम

अपराध करने वाले सफेदपोशों को चिन्हित करे पुलिस, सरकार नहीं करेगी हस्तक्षेप: सीएम

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि राज्य में सफेदपोश भी अपराध करवाते हैं। उन सफेदपोशों को चिन्हित कर पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई करे, सरकार हस्तक्षेप नहीं करेगी। शहर हो या गांव गुंडई करने वाले किसी सफेदपोश या लेवी वसूलने वाले उग्रवादियों को पुलिस सबक सिखाए। सीएम ने मंगलवार को बतौर मुख्य अतिथि स्थापना दिवस परेड में पुलिसकर्मियों को संबोधित करते हुए ये बातें कही। सीएम ने कहा कि संविधान ने सभी को सुरक्षा की गारंटी दी है। झारखंड सरकार सभी समुदायों को बिना किसी भेदभाव के सुरक्षा देगी। इस मौके पर शहीद पुलिसकर्मियों के सपनों को साकार करने के लिए मिलजुल कर प्रयास करने की बात भी सीएम ने की। ये की अहम घोषणाएं - सीएम ने कहा कि दिसंबर महीनें तक राजधानी में सीसीटीवी लगाने का काम पूरा कर लिया जाएगा। अन्य शहरों में भी सीसीटीवी लगाने की प्रक्रिया होगी। सीसीटीवी रांची में दिसम्बर तक लग जायेगा| - पुलिस कल्याण के लिए सरकार जनवरी 2018 से पुलिसकर्मियों को तेरह माह का वेतन देगी। एक माह के अतिरिक्त वेतन भुगतान के लिए सरकार ने 350 करोड़ रूपये का बजट तैयार किया है। - एसीबी में तैनात पुलिसकर्मियों को 25 प्रतिशत की अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इसमें 3 करोड़ का अतिरिक्त खर्च आएगा। - राज्य में जल्द तीन ट्रैफिक थाना, छह साइबर थाना, 15 नए पुलिस अनुमंडल, 14 थाने और दो ओपी का निर्माण किया जाएगा। स्मार्ट बने पुलिसकर्मी, आईडिया करें शेयर सीएम रघुवर दास ने 25 स्मार्ट थानों का ऑनलाइन उदघाटन भी किया। उन्होंने कहा कि समय सीमा के भीतर अधारभूत संरचना का निर्माण हुआ है। पुलिस कल्याण के लिए भी सरकार काम कर रही है। स्मार्ट थाना में जरूरी है कि पुलिसकर्मी भी स्मार्ट रहें। सभी जिलों के एसपी से सीएम ने कहा कि वे पुलिसकर्मियों से मिलते जुलते रहें, उन्हें स्मार्ट बनाने में मदद करें। सीएम ने कहा कि सिपाही से लेकर डीजीपी तक उनसे अपनी आइडिया शेयर करें। सरकार बेहतर आइडिया का इस्तेमाल करेगी। सीएम ने कहा कि ट्रैफिक शिक्षा की भी जरूरत है। साइबर क्राइम रोकने के लिए भी झारखंड पुलिस को प्रशिक्षित किया जाएगा, जवानों को तकनीकी रूप से सक्षम होने कि जरूरत है। पुलिस और जनता के बीच सेतु बनाने कि जरूरत है। इस सेतु के माध्यम से जनता के बीच संवाद स्थापित करें। आम जनता के साथ पुलिस का व्यवहार बेहतर होना चाहिए। टीम वर्क और लक्ष्य के साथ काम करने कि जरुरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police to mark crime-stricken white collar: CM
किसान रामेश्वर राष्ट्रपति के हाथों लेंगे फसल बीमा की राशिपुलिस में जल्द होंगी नौ हजार नियुक्तियां, 31 दिसंबर के बाद चलेगा ऑपरेशन ऑल आउट