class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चा चोर की अफवाह में तीन और लोगों की पीट-पीटकर हत्या

1 / 3

2 / 3

3 / 3

PreviousNext

बच्चा चोर की अफवाह में गुरुवार की देर रात तीन और लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। यह घटना जमशेदपुर के बागबेड़ा थाना क्षेत्र के नागाडीह गांव में हुई। एक महिला की हालत गंभीर है। उसे टाटा मुख्य अस्पताल में भर्ती किया गया है। एक अन्य लोगों के चंगुल से किसी तरह बचकर भाग निकला। इससे पूर्व गुरुवार को  दिन में सरायकेला-खरसावां जिले के राजनगर में बच्चा चोर की अफवाह में ही चार लोगों की हत्या कर दी गई थी।
बागबेड़ा में घटना की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस पर उग्र ग्रामीणों ने हमला बोल दिया गया। इसमे डीएसपी (विधि व्यवस्था) बिमल कुमार, बागबेड़ा थानेदार आमिष हुसैन समेत करीब आधा दर्जन पुलिसवाले घायल हो गए। डीएसपी और थानेदार की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त कर दी गई। इसके बाद देर रात एसएसपी अनूप टी. मैथ्यू समेत पुलिस के कई वरीय अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए भारी संख्या पुलिस तैनात कर दी गई है।
हत्या के विरोध में बाजार बंद : बागबेड़ा के नागाडीह में की गई तीन की हत्या से आक्रोशित लोगों ने शुक्रवार सुबह रेलवे स्टेशन के पास, बागबेड़ा और जुगसलाई में बाजार बंद कराकर सड़क जाम कर दी। मौके पर सिटी एसपी भारी पुलिस बल के साथ पहुंच चुके हैं। जुगसलाई गोलचक्कर में सड़क जाम करने वालों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया है।
मारे लगे लोगों में दो भाई भी : बागबेड़ा में मारे गए लोगों के नाम गौतम कुमार वर्मा, विकास कुमार वर्मा और गंगेश कुमार हैं। तीनों जुगसलाई के रामटेकरी रोड के रहने वाले थे। उनके साथ रही रामचंद्र देवी की स्थिति गंभीर है। गौतम और विकास दोनों भाई थे। तीसरा भाई उत्तम भी साथ में था, लेकिन वह किसी तरह से ग्रामीणों के चंगुल से भाग निकला। 
घटना से अचंभित हैं लोग : ग्रामीणों के चंगुल से निकलकर भागे उत्तम कुमार वर्मा ने हत्या की जो कहानी बताई, उसे सुन सभी अचंभित हैं। उत्तम ने बताया कि वे लोग नागाडीह गांव में गुरुवार देर शाम पहुंचे थे। उस समय वहां के चौक पर लगभग 100 की संख्या में स्थानीय लोग मौजूद थे। सभी ने हमारी बाइक रोक दी और पूछा कि कहां आए हो। उत्तम और विकास ने बताया कि वे शौचालय बनाने का काम करते हैं। उत्तम ने बताया कि जब हमलोगों ने सारी बातें बताई तब भी वे नहीं माने। उन्होंने इसके बाद बच्चा चोर होने का आरोप लगाकर हमलोगों को घेर लिया और बिजली के खंभे से बांधकर सभी को पीटने लगे। उत्तम ने बताया कि उसे भी ग्रामीणों ने पकड़ लिया था और पत्थर से मारकर जख्मी कर दिया। रात में जब पुलिस मौके पर पहुंची थी, तब थोड़ी देर के लिए वहां भगदड़ मच गई। इसी का फायदा उठाकर वह वहां से भाग निकला। 
अफवाह पर ध्यान न दें लोग : एसएसपी
पूर्वी सिंहभूम के एसएसपी अनूप टी. मैथ्यू ने लोगों से अपील की कि बच्चा चोर कहकर वे कानून हाथ में न लें। अभी तक किसी इलाके में बच्चा चोरी की शिकायत दर्ज नहीं की गई है। बच्चा चोरी या फिर चोरों के आने की बात पूरी तरह अफवाह है। ऐसी अफवाह फैलाने वाले और कानून हाथ में लेने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई कर रही है। उन्होंने अपील की कि लोग इस तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें। किसी पर बच्चा चोरी का शक है तो पुलिस को सूचित करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three more people killed after rumor of child thief