class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पोटका के बीडीओ पर विभागीय कार्रवाई शुरू

पोटका के बीडीओ प्रभात चंद्र दास पर आखिरकार गाज गिर ही गई। उनके खिलाफ प्रपत्र ‘क गठित कर दिया गया है अर्थात विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी गई है। यह जानकारी उपायुक्त अमित कुमार ने शनिवार को दी। दास ऐसे बीडीओ हैं जिनके कामकाज के तरीके से मुख्य सचिव राजबाला वर्मा नाराज थीं। वह पिछले महीने ग्रामीण विकास के कामकाज की समीक्षा के दौरान दास आगबबूला हो गईं थीं। उन्होंने पोटका में चल रहीं सभी विकास योजनाओं की छानबीन का आदेश दिया था। असल में मनरेगा और प्रधानमंत्री आवास योजना में खास तौर से उनका कामकाज असंतोषजनक माना गया था। सूत्रों के अनुसार मनरेगा में अगर 100 काम हुए तो 90 के कागजात अधूरे हैं या हैं ही नहीं। मई से उनके वेतन पर भी रोक लगी है। बार-बार चेतावनी के बावजूद नहीं हुआ सुधार दास के खिलाफ कार्रवाई इसलिए करनी पड़ी क्योंकि उन पर किसी चेतावनी और बात का असर नहीं हो रहा था। उन्हें जिला से लेकर राज्य स्तर तक से चेतावनी दी गई थी। काम के तरीके में सुधार के लिए कहा था, योजनाओं की गति तेज करने के लिए कहा गया, मगर उनके कामकाज के तरीके में कोई परिवर्तन नहीं हुआ। सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ प्रपत्र ‘क गठन निलंबन से सख्त कार्रवाई मानी जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Departmental action on BDO of Potka
हर शौचालय की फोटो खींचकर वेबसाइट पर डालना हैपरसूडीह से गांजा के साथ तस्कर गिरफ्तार