class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शंकराचार्य बोले, कश्मीर में सैनिकों पर पत्थर फेकना राष्ट्रद्रोह

पुरी पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी निश्चलानन्द सरस्वती ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में देश की सुरक्षा में जुटे सैनिकों पर पत्थर फेंकने की घटना राष्ट्र द्रोह है। जिन युवाओं की रक्षा सैनिक करते हैं, वही युवा सैनिकों पर पत्थर बरसा रहे हैं। आमजन को भी आत्मरक्षा का अधिकार देश में प्राप्त है तो क्या सैनिकों को इसका अधिकार नहीं है। वहां की सरकार भाजपा समर्थित है। ऐसे में भाजपा भी समान रूप से दोषी है।

शुक्रवार को लक्ष्मी निवास में गोष्ठी सह संवाददाता सम्मेलन के दौरान शंकराचार्य ने कहा कि अंग्रेजों की कूटनीति के कारण भारत दिशाहीन हो गया। मैकाले की शिक्षा पद्धति के कारण आज यह दशा है। रक्षा प्रणाली सनातन परंपरा के विपरीत है। भारतीय संविधान भी सनातन के विपरीत है। सैद्धांतिक स्तर पर भारत आज भी परतंत्र है। मुगल और अंग्रेज से भी अधिक परतंत्रता आज है। उन्होंने कहा कि भारत में मेधा, रक्षा, वाणिज्य और श्रम शक्त्ति का सदुपयोग नहीं हो रहा है। दूसरे देश यहां की इन शक्तियों का उपयोग कर आगे बढ़ रहे हैं। अमेरिका, चीन, ब्रिटेन में यह शक्तियां काम कर रही हैं। अगर अपने देश में इन चारों शक्तियों का उपयोग हो तो
भारत अत्यंत उत्कृष्ट राष्ट्र के रूप में विश्व में स्थापित हो सकता है।

उन्होंने गो-रक्षकों को गुण्डों की टोली घोषित करने पर भी नाराजगी जाहिर की और देश में गो-वध पर रोक लगाने की मांग की। कहा कि सत्ता के कारण राजनेता दिशाहीन हो जाते हैं। वेदविहीन ज्ञान इसका बड़ा कारण है। वैदिक ज्ञान जरूरी है। नासा भारत की चीजों का उपयोग कर अपनी मुहर लगाता है और यहां के लोग देखते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि ओडि सरकार उन्हें यातनाएं दे रही है। केन्द्र सरकार पर भी उन्होंने गंभीर आरोप लगाए। कहा कि दूसरे धर्म में इस पद पर आसीन लोग ना सिर्फ धर्मगुरु होते हैं बल्कि राष्ट्राध्यक्ष व सेनाध्यक्ष भी होते हैं लेकिन यहां पर इसके विपरीत स्थिति है। शंकराचार्य को धर्मसम्राट की उपाधि दी गयी है लेकिन यहां कुचलने की कोशिश की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shankaracharya sayas- throwing stones at soldiers in Kashmir is anti-national
रिवाल्वर रानी की तर्ज पर प्रेमी से भिड़ी, शादी को राजी कियाफेडरेशन कप एथलेटिक का ट्रायल 21 को